ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

चीन के जरिए प्रधान मंत्री कार्यालय से लेकर रक्षा मंत्रालय तक पाकिस्तान ने सेंध लगा दी थी

इन्दौर। सिर्फ पाकिस्तान ही नहीं है जो हमें नुकसान पहुंचा रहा है, पिछले साल पूरे अक्टूबर महीने में भारत और अमेरिका के बीच हुई हर बातचीत को पाकिस्तान ने चीनी हैकरों की मदद से हाईजैक किया। हर मैसेज, ट्रांसमिशन भारत से पाकिस्तान होते हुए अमेरिका जा रहा था और अमेरिका से आने वाला हर ट्रांसमिशन पाकिस्तान होता हुआ हम तक पहुंच रहा था। एक महीने बाद हमें पता चला कि कुछ गलत हो रहा है।

पाकिस्तान ने हमारे डीआरडीओ (डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट), रक्षा मंत्रालय, प्रधानमंत्री कार्यालय, आर्मी को भेद दिया था। हम पाकिस्तान से नहीं लड़ रहे हैं और न ही पाकिस्तान हमसे लड़ रहा है, जो कुछ भी है वह चीन है। पूरी दुनिया भारत के साथ है लेकिन चीन अभी भी मसूद अजहर को बैन करने के खिलाफ है। दरअसल, हमारी असली लड़ाई पाकिस्तान से नहीं बल्कि चीन के साथ है।

पुलवामा हमले के बाद यह बड़ा खुलासा किया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केअतिरिक्त प्रमुख सचिव श्री. पीके मिश्रा ने। वे एक निजी विश्वविद्यालय के कार्यक्रम में शामिल होने इंदौर आए थे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में बैठा हाफिज सईद ट्वीट करता है कि हम तुम्हारी सेना का खून लेंगे और पूरा हिंदुस्तान आंसू बहाएगा। दो दिन पहले हुई घटना के बाद आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक देश शोक में है। हर कोई बदला चाहता है। मैं आपसे वादा करता हूं कि जल्द ही सरकार, आर्मी और पैरामिलिट्री फोर्स इस हमले का बदला लेगी और आपको एक अच्छी खबर सुनने को मिलेगी। सर्जिकल स्ट्राइक से भी बड़ा बदला लिया जाएगा। हमें डिप्लोमेटिक जीत तो मिल चुकी है लेकिन यह नाकाफी है।

हमें स्ट्रेटेजिक जीत चाहिए जो पाकिस्तान को ‘ब्लो द बेल्ट’ मारकर मिलेगी। पालम हवाई अड्डे पर जब शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बॉडी लैंग्वेज एक कमांडर की तरह थी। वे अकेले वीवीआईपी थे जो हर 41 बॉडी के पास गए। मुझे पता है कि क्या होने वाला है लेकिन वह बताया नहीं जा सकता है। देश को जल्द ही बदला मिलेगा। सैटेलाइट की मदद से सर्जिकल स्ट्राइक में रिजर्व, हेड क्वार्टर, लॉन्च पैड, आतंकियों की संख्या से लेकर इक्विपमेंट तक की जानकारी मिली थी। अब हमें भी इजराइल की तरह कॉम्पैक्ट एयरक्राफ्ट के जरिए सैटेलाइट से मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तान में घुसकर हमले करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि टैक्स पेयर्स के रुपयों से कश्मीर में ऑल पार्टीज हुर्रियत कॉन्फ्रेंस को सुरक्षा दी जा रही थी। इनके संबंध पाकिस्तान और आईएसआई के साथ हैं। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कश्मीर के इन सभी जयचंदों की सिक्युरिटी हटा दी है। ये लोग अपने ही पाले हुए आतंकियों द्वारा एक दिन मारे जाएंगे। जिस तरह से यूएसए ने पाकिस्तान में घुसकर ओसामा बिन लादेन को मारा था, ठीक उसी तरह हमें भी सक्षम होना है कि पाकिस्तान में घुसकर हाफिज सईद, सलाउद्दीन, मसूद अजहर को मार गिराएं।

डॉ. मिश्रा ने कहा कि 1971 में पाकिस्तान के साथ हुए युद्ध की दो बातें वह कभी नहीं भुला पाएगा। पहला हमने बांग्लादेश बनाकर उसे दो हिस्सों में बांट दिया और दूसरा पाकिस्तान के 92 हजार सैनिकों से भारत ने सरेंडर कराया। हम इतना बड़ा देश होने के बाद भी आज लड़ाकू विमान, हेलिकॉप्टर इजराइल से मांग रहे हैं। हमारे देश के साथ गलत क्या है? हमें डिफेंस टेक्नोलॉजी को मजबूत बनाना है।

साभार- https://naidunia.jagran.com/ से

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top