आप यहाँ है :

ट्वीटर पर एक दूसरे पर कीचड़ उछाल रहे हैं टीवी के पत्रकार

ये काफी दिलचस्प मामला है और पत्रकारिता के लिए शर्मिंदगी भरा भी। एक दूसरे को पत्रकार सीधे तौर पर दलाल, सूअर जैसी गालियों से नवाज रहे हैं और ट्विटरत्ती मजे ले रहे हैं। ये वाकया टीवी9 भारतवर्ष के मैनेजिंग एडिटर विनोद कापड़ी और 2014 के चुनावी कैम्पेन में मोदी का इंटरव्यू डीडी न्यूज के लिए लेने वाले एंकर अशोक श्रीवास्तव से जुड़ा है और झगड़े की जड़ में है चौकीदार।

मामला नरेन्द्र मोदी के चौकीदार कैम्पेन से जुड़ा है। जैसे ही ये कैम्पेन शुरू हुआ विनोद कापड़ी, अजीत अंजुम और संजीव पालीवाल ने मोदी के तथाकथित हितचिंतक पत्रकारों के खिलाफ ट्वीट करे शुरू कर दिए। विनोद कापड़ी ने एक ट्वीट में लिखा, ‘इंतज़ार है कि तमाम एंकर और रिपोर्टर भी अपने ट्विटर प्रोफ़ाइल में ‘मैं भी चौकीदार’ लिख कर साफ़ साफ़ बता ही दें कि वो इस चुनाव में खुल कर एक राजनैतिक दल के साथ खड़े हैं’।

इस ट्वीट पर अशोक श्रीवास्तव ने बिना नाम लिए कमेंट करते हुए लिखा, ’पर कुछ पत्रकार कुछ भी नहीं लिख सकते। क्योंकि “दलाल पत्रकार” लिखा हुआ अच्छा नहीं लगेगा‘।’ जवाब देने मैदान में कूद गईं विनोद की पत्नी और न्यूज 24 की एंकर साक्षी जोशी, जो आजकल अपना नाम ट्विटर पर ‘जागरूक मतदाता साक्षी जोशी’ लिख रही हैं। साक्षी ने अशोक को जवाब दिया, ‘तुम्हें लिखने की ज़रूरत नहीं। सबको पता है धंधा बनाकर रख दिया है’।

उसके बाद अशोक श्रीवास्तव ने कापड़ी की एक ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा, ‘वैसे वो पत्रकार कौन था जिसे कुछ साल पहले एक फाइव स्टार होटल की पार्किंग में एक महिला एंकर के साथ आपत्तिजनक अवस्था में होटल के चौकीदारों ने पकड़ लिया था और फिर खूब धुनाई की थी ’।

ये पढ़कर अब साक्षी जोशी अशोक श्रीवास्तव की वॉल पर भी आ गईं और आते ही चेतावनी भरा मैसेज लिख डाला, ‘Name with proof or face defamation ashok Shrivastava . I am waiting.’।

ऐसे में एक ट्विटरत्ती ने लिखा, ‘Madam aaj aap ki poll khul gayi। तो साक्षी ने जवाब दिया, ‘Vaise hum husband wife hain. Aapko ye poll khulna lagta hai! Go n check what r u parents doing right now!’।

इधर विनोद कापड़ी ने अशोक की इसी ट्वीट को रिट्वीट करते हुए सीधे सीधे लिख डाला, ‘तुम जैसे चारण, चाटुकार और सरकार के टुकड़ों में पलने वाले पत्रकार झूठी ख़बरें ही फैला सकते है और यही करते रहेंगे। लगे रहो। इसके बाद कोई संवाद नहीं,as George Bernard shaw said: “ I learned long ago, never to wrestle with a pig. You get dirty, and besides, the pig likes it. “।

साथ में साक्षी जोशी भी उतर आईं और विनोद की वॉल पर लिखा, ‘’ Good decision. I think u must file defamation against this pig. And he is doing services for govt in the guise of a journalist. Laga reh bhai. Par ticket nahi milegi. Tere se pehle bahot hain line mein’’।

अब अशोक श्रीवास्तव इसके बाद खामोश हैं और विनोद-साक्षी भी अपनी अपनी बात लिखकर खामोश हो गए हैं, लेकिन ट्विटरत्ती मैदान में हैं और तीनों की ही जमकर छीछालेदर कर रहे हैं।

साभार- http://www.samachar4media.com/से



सम्बंधित लेख
 

Back to Top