ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

एक भारत श्रेष्ठ भारत” अभियान के तहत हो रहा है मुंबई में उत्तरप्रदेश दिवस समारोह

24 जन को डॉ राममनोहर त्रिपाठी स्मृति सम्मान से सम्मानित होंगे दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार हेमंत शर्मा।
सांसद अभिनेता रवि किशन व निरहुआ की उपस्थिति में कई हस्तियां होंगी सम्मानित।

मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के “एक भारत श्रेष्ठ भारत” अभियान के मुंबई में उत्तरप्रदेश दिवस समारोह का आयोजन हो रहा है।इस बार 24 जनवरी को उत्तरप्रदेश दिवस स्मारोह का सांताक्रूज मे राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी उद्घाटन करेंगे।उत्तरप्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य,राज्यमंत्री रविन्द्र जायसवाल के साथ महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणविस अतिथि के रुप मे उपस्थित रहेंगे।साथ ही वरिष्ठ पत्रकार हेमन्त शर्मा को डॉ राम मनोहर त्रिपाठी स्मृति सम्मान से सम्मानित किया जायेगा।भाजपा अध्यक्ष मंगलप्रभात लोढ़ा विशेष अतिथि होंगे और पूर्व मंत्री आशीष शेलार समारोह के स्वागताध्य्क्ष होंगे।

उत्तरप्रदेश दिवस समारोह में अभिनेता रवि किशन के सामाजिक कार्यों और भोजपुरी फिल्मों के गायक -अभिनेता दिनेशलाल यादव निरहुआ की कला को सम्मानित किया जायेगा।शिक्षा के क्षेत्र मे गांव बिसूई,जौनपुर मे विद्यालय चलानेवाले सत्यकुमार सिंह,गडवा घाट,कान्दिवली के रामउजागिर यादव को सामजिक कार्य और विमल दुबे को उद्योग के क्षेत्र मे उल्लेखनीय योगदान के लिये सम्मानित किये जाने की आज घोषणा हुई।यह जानकारी मुंबई बीजेपी के महामंत्री व अभियान संस्था के संस्थापक अमरजीत मिश्र ने दी।
उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की “एक भारत-श्रेष्ठ भारत” अभियान के तहत उत्तरप्रदेश व महाराष्ट्र के बीच हुए अनुबंध के आधार पर सांस्कृतिक आदान प्रदान के लिए इस तरह के आयोजन हो रहे हैं।इससे पहले उत्तरप्रदेश में मराठी गीतों के कार्यक्रम हो चुके हैं।श्री मिश्र ने बताया कि हिंदी मराठी भाषा में पारंगत रहे डॉ त्रिपाठी के नाम पर अभियान एक सम्मान प्रदान करता है।हिंदी भाषियों और हिंदी साहित्य -पत्रकारिता में सर्वाधिक लोकप्रिय रहे स्वर्गीय डॉ त्रिपाठी की तरह ही हेमंत शर्मा की लेखनी भी भाषा और संस्कृति के रक्षण के समर्थन मे चलती रह्ती है।

गौरतलब हैं कि मुंबई में 32 वर्षों से सामाजिक-सांस्कृतिक संस्था ‘अभियान’ द्वारा ‘उत्तरप्रदेश स्थापना दिवस’ मनाया जाता है, जिसकी राष्ट्र स्तरीय चर्चा सर्वत्र है ।इस सालाना जलसे में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में पुरुष, नवयुवक और महिलाओं में उत्सुकता देखी जा रही है | उल्लेखनीय है कि नई पीढी के लोग अपनी लोक कला, लोक संस्कृति और लोकगीतों के प्रति जागरूक हों, इसी मंशा से यह समारोह आयोजित किया जाता है |

देश की कई सामाजिक शैक्षणिक संस्थाओं ने अभियान के कार्यक्रम को अपना समर्थन दिया है | मुंबई के विभिन्न इलाकों के अलावा कल्याण, ठाणे, नई मुंबई आदि जगहों से भी लोगों का समूह इस कार्यक्रम में शामिल होता है |

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top