ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

वैश्विक निवेशकों की पहली पसंद बनता जा रहा है उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार प्रदेश को अपराध मुक्त, दंगामुक्त तथा भयमुक्त बनाने के बाद आर्थिक विकास के लिए संकल्पवान होकर राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को आकर्षित करने के लिए लगातार कदम उठा रही है जिसका स्पष्ट परिणाम भी दिखाई देता दिखाई दे रहा है।

प्रदेश की अर्थव्यवस्था के लिए रखा एक ट्रिलियन डॉलर का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए प्रदेश सरकार लगातार काम कर रही है। फरवरी -2023 में लखनऊ में आयोजित होने जा रहे ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से पहले ही प्रदेश को निवेश के प्रस्ताव मिलने प्रारंभ हो गए हैं। निवेशकों को आकर्षित करने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री व कैबिनेट के अनेक मंत्री विदेशों का दौरा करने जा रहे हैं। ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के पूर्व अभी दिल्ली में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विश्व भर के निवेशकों से यूपी की बदलती परिस्थितियों का लाभ उठाने का आह्वान किया।मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में विभिन्न देशों के राजदूतों,उच्चायुक्तों, उद्यमियों और निवेशकों की उपस्थिति में प्रदेश के बदलते परिवेश को प्रस्तुत किया गया , इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में निवेश बढ़ाने के लिए नीतिगत बदलाव के साथ ढांचागत सुविधाओं में व्यापक सुधार किया जा रहा है।

प्रदेश में हवाई क्षेत्र से लेकर सड़क, जल और रेल नेटवर्क को सुविधाजनक बनाया गया है।दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में फरवरी में अयोजित होने जा रहे समिट के लिए लोगो का अनावरण कर दिया गया है और ऑनलाइन इन्सें टिव मैनेजमेंट पोर्टल और निवेश सारथी एप का भी शुभारम्भ कर दिया गया है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि इन दो पोर्टलों से निवेशकों का कम सरल होगा। निवेश सारथी पोर्टल से एमओयू पर हस्ताक्षर करने और उनके क्रियान्वयन की निगरानी सरल हो जाएगी। प्रदेश में अलग- अलग सेक्टर की नीति के जरिए मिलने वाले इंसेटिव के लिए निवेशकों को अब विभागों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।निवेश संबंधी सारे सवालों की जानकारियां और जवाब ऑनलाइन मिल सकेंगी। प्रदेश सरकार का सिंगल विंडो क्लीयरेंस सिस्टम निवेश मित्र पोर्टल उद्यमियों की नई परियोजना की शुरूआत में भी काफी सहायक सिद्ध हो रहा है।

प्रदेश में अभी तक जापान,सिंगापुर व इजराइल समेत कई देषों के प्रतिनिधियों ने भी उत्तर प्रदेश को निवेश के लिए उत्कृष्ट राज्य बताया है।भारत में सिंगापर के उच्च्चायुक्त साइमन वांग ने कहा कि सिंगापुर और भारत पहले से ही व्यापार में भागीदार हैं और यूपी से अपने जुड़ाव को लेकर हम बहुत आष्वस्त हैं। इजराइल के राजदूत नाओर गिलोन ने कहा कि हम उत्तर प्रदेश सरकार के साथ बुंदेलखंड में पानी को लेकर पहले से ही परियोजनाओं में भागीदार हैं। अब इंफ्रास्ट्रक्चर ,आईटी, इनोवेशन रक्षा और सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में भी यूपी सरकार के साथ एक मजबूत साझेदारी के लिए हम उत्साहित हैं।जापान के काउंसलर ने भी यही विचार व्यक्त करते हुए कहा कि जापान सरकार प्रदेश के विकास में हर आर्थिक सहयोग का समर्थन करती है। कई देशों के प्रतिनिधि व राजदूत भी समय -समय पर मुख्यमंत्री से मिलते रहते हैं।

उत्तर प्रदेश के आर्थिक व औद्योगिक विकास के लिए उद्योग जगत की हस्तियों ने भी प्रदेश की अर्थव्यवस्था को नई ऊंचाई तक ले जाने में योगदान देने का भरोसा दिलाया है। सीआइआइ के उपाध्यक्ष संजीव पुरी का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मार्ग निर्देषन में उप्र देष की तीसरी बड़ी अर्थवयवस्था बन चुका है।उप्र भारत के विकास का इंजन है।प्रदेश सरकार ने राज्य के विकास के लिए कई कदम उठाए हैं।प्रदेश में इंफ्रास्टक्र पर तेज गति से काम हो रहा है। एयर कनेक्टिविटी एक्सप्रेस वे का नेटवर्क तैयार किया गया है। रोजगार के क्षेत्र में भी सरकार काम कर रही है।कानून व्यवस्था के मामले में भी योगी सरकार ने उल्लेखनीय कार्य किया है।अब प्रदेश में व्यापार के लिए अनुकूल वातावरण सृजित हुआ है। अब उत्तर प्रदेश विकास के हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है। फिक्की ने भी पूरा सहयोग प्रदेश सरकार को देने का वादा किया है।उद्योग जगत ने उप्र पुलिस की ओर से चलाये जा रहे आपरेषन पाताल लोक की भी सराहना की है।

प्रदेश में निवेश करने के लिए निवेशकों मे इतना उत्साह है कि अभी तक राज्य सरकार को 379 निवेश प्रस्ताव मिले हैं जिसमें 1.62 लाख करोड़ रूपए प्रदेश में अएगा।इससे प्रदेश में 6.33 लाख लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होने जा रहे हैं।अभी तक मिले निवेश प्रस्तावों में आईटी एंड इलेक्ट्रानिक्स सेक्टर में 24 कंपनियों ने निवेश की इच्छा जताई है।

प्रदेश सरकार के मंत्री नंदलाल गुप्ता नंदी का कहना है कि योगी सरकार की बेहतर नीतियों के कारण आज उद्योग लगाना आसान हुआ है। सिंगल विंडो सिस्टम निवेश मित्र पोर्टल से निवेशकों को लाभ हो रहा है। प्रदेश में निवेश करने के लिए विश्व के कई देश उत्सुक हैं।प्रदेश में डेढ़ लाख करोड़ के निवेश से छह लाख रोजगार के अवसर भी ख्ुगे। प्रदेश में निवेशकों ने औद्योगिक पार्क में सबसे अधिक रोजगार सृजन का अनुमान किया जा रहा है।

एक प्रकार से अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की इच्छाषक्ति व संकल्प के चलते प्रदेश में निवेश करने के लिए निवेशक आकर्षित हो रहे हैं तथा प्रदेश निवेशकां का पहली पसंद बनता जा रहा है।आगामी नौ दिसंबर से प्रदेश सरकार के सभी मंत्री विदेष यात्रा के लिए निकल रहे हैं।प्रदेश में वर्तमान समय में विकास के कई कार्य प्रगति पर हैं जिसके लिए निवेश की महती आवष्यकता है और अब सरकार उसमें लगातार आगे बढ़ रही है।

प्रेषक- मृत्युंजय दीक्षित

फोन नं.- 9198571540

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Get in Touch

Back to Top