ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

उत्तरप्रदेश को सिर्फ उत्तम नहीं, बल्कि सर्वोत्तम प्रदेश बनाएंगे: राज्यपाल श्री राम नाईक

राज्यपाल के स्वागत में जेठ की दोपहरी में जुटी भारी भीड़ ।

मुम्बई में शनिवार का वर्किंग डे और तपती धूप की अलसाई दोपहर, तिस पर मई के महीने में ज्यादातर लोग अपने मुलुक गए हों इस के बावजूद शहर के उत्तरभारतीयों की बड़ी संख्या में मौजूदगी बता रही थी कि अभियान संस्था की मुम्बई के उत्तरभारतीयों में जबर्दस्त लोकप्रियता है। उत्तरप्रदेश के राज्यपाल राम नाईक के अभिनंदन समारोह में लोगों से खचाखच भरा सभागृह उत्तरप्रदेश में यूपी दिवस मनाये जाने की घोषणा का ही परिणाम था। राज्यपाल राम नाईक व अभियान के संस्थापक अमरजीत मिश्र के अभिनन्दन का लंबा सिलसिला चला। 2 मई को उप्र की योगी आदित्यनाथ की सरकार ने हर 24 जनवरी को यूपी में ब्लाक स्तर पर उत्तरप्रदेश स्थापना दिवस मनाये जाने का कैबिनेट में प्रस्ताव पारित कर उत्तरभारतीयों का दिल जीत लिया। समारोह में बड़ी संख्या में नवयुवकों की मौजूदगी बता रही थी कि इस फैसले से लोगों का उत्साह चरम पर है।

उप्र में यूपी दिवस मनाये जाने के लिए सरकार से कहने वाले राज्यपाल राम नाईक और मुम्बई में 29 वर्षों से उत्तरप्रदेश दिवस का सतत आयोजन करनेवाली संस्था अभियान के संस्थापक अमरजीत मिश्र को शॉल श्रीफल व स्मृतिचिन्ह देकर सम्मानित किया गया । दीपक सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों नवयुवकों ने तलवार भेंट कर स्वागत किया। अभियान के संस्थापक व भाजपा के प्रदेश महामंत्री अमरजीत मिश्र ,भूमिहार समाज के एडवोकेट आर पी सिंह, उत्तरभारतीय जनसेवा संघ के अध्यक्ष नगरसेवक मदन सिंह,महाराणा प्रताप सेवा मंडल के अध्यक्ष मिठाईलाल सिंह,भारतीय पत्रकार विकास संघ के अध्यक्ष आनन्द मिश्र ने भी श्री नाईक का अभिनन्दन किया।

राज्यपाल राम नाईक ने महाराष्ट्र और उत्तरप्रदेश के सांस्कृतिक व ऐतिहासिक रिश्ते पर भी प्रकाश डाला और उत्तरप्रदेश दिवस का सतत आयोजन करनेवाली एकमात्र संस्था अभियान की प्रशंसा की। उन्होंने योगी सरकार द्वारा उप्र दिवस मनाये जाने और कैबिनेट में दिवस की प्रासंगिकता के सन्दर्भ में दी गयी व्याख्या का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि अब उत्तर प्रदेश सिर्फ उत्तम प्रदेश नहीं बनेगा बल्कि सर्वोत्तम प्रदेश बनेगा। उन्होंने नई सरकार के कामों पर भी विश्वास जताया कि आनेवाले दिनों में यूपी की तस्वीर बदलेगी।

अभियान के संस्थापक अमरजीत मिश्र ने राज्यपाल राम नाईक के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा कि त्रेता में भगवान राम वनवास गए तो उन्होंने शापित अहिल्या का उद्धार किया था ,लेकिन जब उत्तर मुम्बई के राजनेता लखनऊ के राजभवन में गए तो उत्तरप्रदेश का उद्धार किये। उनके कार्यकाल में उत्तरप्रदेश उत्तम प्रदेश बनने की दिशा में चल पड़ा है। देश – दुनिया के उत्तरप्रदेशीय अपने प्रदेश पर नाज करने लगे हैं। श्री मिश्र ने कहा कि अब 24 जनवरी को वाइब्रेंट यूपी का आयोजन कर सरकार प्रदेश के विकास की नई पहल करे।

समारोह के अध्यक्ष मुम्बई विश्वविद्यालय के पूर्व हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ रामजी तिवारी ने उत्तरप्रदेश दिवस मनाये जाने को लेकर पूरे देश से मिले समर्थन पर ख़ुशी जताई और राम नाईक व अभियान के योगदान को याद किया।

पत्रकार प्रेम शुक्ल, भारत रत्न उस्ताद स्वर्गीय बिस्मिल्लाह खान की मानस पुत्री सुप्रसिद्ध गायिका पद्मश्री डॉ सोमा घोष ,उत्तरभारतीय नेता मिठाईलाल सिंह और प्रसिद्ध गीतकार समीर ने राम नाईक के कार्यों की प्रशंसा की और अभियान के उत्तरप्रदेश दिवस की मुहीम की जमकर तारीफ भी की।मशहूर कवि सुरेश मिश्र ने अपनी कविताओं से रसिकों का स्वागत किया। समारोह में 2 दर्जन से भी अधिक संस्थाओं ने राज्यपाल राम नाईक का सम्मान किया। सामाजिक संस्था अभियान द्वारा विलेपार्ले के नवीनभाई ठक्कर हॉल में हुए इस समारोह की यादगार दोपहर लोगों को लंबे समय तक याद रहेगी। समारोह का सञ्चालन पत्रकार सुनील सिंह ने किया और मानपत्र का वाचन वीरेंद्र याज्ञीक ने किया। आभार आदित्य दुबे ने माना।

कैप्शन

उत्तरप्रदेश के राज्यपाल राम नाईक को शॉल श्रीफल व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।मुम्बई की संस्था अभियान द्वारा विलेपार्ले के नवीनभाई ठक्कर हॉल में हुए समारोह में अभियान के संस्थापक अमरजीत मिश्र, डॉ रामजी तिवारी,पद्मश्री डॉ सोमा घोष,डॉ रामजी तिवारी ,समीर,मिठाईलाल सिंह,प्रेम शुक्ल

Print Friendly, PDF & Email


सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top