ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

मतदाता जागरूकता और लोकतंत्र की मज़बूती पर हुआ जोरदार मंथन

राजनांदगांव। राष्ट्रीय मतदाता जागरूकता अभियान ( स्वीप प्लान ) अंतर्गत शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में निबंध एवं वाद-विवाद की प्रतियोगिताएं अभूतपूर्व उत्साह के साथ सम्पन्न हुई। इन विधाओं के संयोजक डॉ. चन्द्रकुमार जैन ने भारत निर्वाचन आयोग की मंशा और जिला लोक शिक्षा समिति और स्वीप प्लान की अपेक्षा के अनुरूप प्रतियोगिता के उद्देश्य और मतदान के प्रति बहुआयामी जागरूकता की ज़रुरत को प्रेरक शब्दों में समझाया। प्रारम्भ में डॉ. शैलेन्द्र सिंह ने प्रतिभागियों को उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए शुभकामनाएं दीं। प्रतिभागियों ने मतदाता जागरूकता के प्रति रुझान के साथ -साथ अपनी रचनात्मक अभिरुचि का शानदार प्रदर्शन कर एक रिकार्ड दर्ज़ कर दिखाया। दोनों प्रतियोगिताओं को मिलाकर लगभग 75 प्रतिभागी शामिल हुए।

संयोजक डॉ. चन्द्रकुमार जैन ने बताया कि निबंध का विषय था – चुनाव में बढ़ता धन-बल का प्रयोग – चुनौतियाँ एवं समाधान। इसी तरह वाद-विवाद प्रतियोगिता का विषय था – इस सदन की राय में लोकतंत्र में मतदान के प्रति आम आदमी की उदासीनता अधिनायकवादी प्रवृत्तियों को जन्म देगी। निबंध में प्रतिभागियों ने बड़ी संख्या में सहभागिता का नया का नया इतिहास रचा। विभिन्न संकायों के स्नातक और स्नातकोत्तर कक्षाओं के विद्यार्थी शामिल हुए। वाद-विवाद प्रतियोगिता में लोकतंत्र बनाम अधिनायकवादी प्रवृत्ति पर विचार व्यक्त करते हुए पक्ष और विपक्ष दोनों अपने-अपने अंदाज़ में मुखर रहे।

डॉ. जैन ने आगे बताया कि कुछ प्रतिभागियों ने सतत प्रेरणा के फलस्वरूप मतदाता और मतदान जागरूकता के प्रभावी अभियान का परिचय देने पर पहली बार प्रतियोगी के रूप में दस्तक दी। उन्हें प्रस्तुति के साथ-साथ सीखने का अवसर भी मिला। विधागत आयोजन के लिए गठित समिति के सदस्यों ने मिलकर प्रतियोगिताएं सम्पन्न करवायी। प्रतिभागियों की उमंग देखते ही बन रही थी। इस अवसर पर डॉ. शंकर मुनि राय, प्रो. सुरेश पटेल, डॉ. दिव्या देशपांडे, डॉ. संजय सप्तर्षि, डॉ. प्रियंका सिंह, डॉ. नीलम तिवारी, डॉ. गायत्री साहू आदि उपस्थित थे।

Print Friendly, PDF & Email


सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top