आप यहाँ है :

दादा गुरुदेव के स्वर्गारोहण महोत्सव पर गूँज उठे भक्ति गीतों के स्वर

राजनांदगाँव। दादा गुरुदेव श्री जिनदत्त सूरि जी महाराज साहब का 863 वां स्वर्गारोहण महोत्सव संस्कारधानी में उत्साह पूर्वक, भाव-भक्ति से साथ मनाया गया। कैवल्यधाम तीर्थ प्रेरिका, परम पूज्य निपुणा श्री जी म. सा. की सुशिष्या प.पू. स्नेहयशा श्री जी म.सा., प.पू. यशोनिधि श्री जी म.सा. आदि साध्वियों का पावन सानिध्य प्राप्त हुआ । इस वर्ष मुख्य समारोह में समाज, शहर और प्रदेश का नाम रौशन करने वाले दक्षिण पूर्व मध्य रेल ज़ोन सेक्रेटरी हिमांशु जैन सहित यूपीएससी सिविल सेवा में चयनित नम्रता जैन और अरिहंत सिंगी को जैन युवा रत्न सम्मान से अलंकृत किया गया। सुलोचना संस्कार वाटिका के होनहारों और शिक्षिकाओं का विविध उपलब्धियों के लिए सम्मान किया गया।

ट्रस्टी और संगठन प्रभारी श्री प्रकाश ललवानी ललवानी ने बताया कि स्वर्गारोहण महोत्सव पर जैन बगीचे में रात्रि सात बजे से आयोजित की गई अखिल भारतीय भक्ति गीत स्पर्धा मंच के मुख्य अतिथि कैवल्यधाम ट्रस्ट के उपाध्यक्ष मदनलाल पारख, जगदलपुर थे। विशिष्ट अतिथि दुर्ग के गुरुभक्त राजेश कुमार मालू और नयापारा राजिम के गुरुभक्त संतोष झाबक थे। संस्था के मैनेजिंग ट्रस्टी किशोर बैद, उपाध्यक्ष खेमचंद जैन,अधिवक्ता तथा कोषाध्यक्ष भीखमचंद छाजेड़ सहित समाज के विशिष्ट जन मंचस्थ थे। अतिथियों का भावभीना सम्मान और अभिनन्दन किया गया।

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय के राष्ट्रपति सम्मानित तथा राजकीय अलंकरण से विभूषित प्रोफ़ेसर डॉ.चन्द्रकुमार जैन मुख्य समारोह का संचालन किया। डॉ. जैन लगातार चौथे दशक में भी इस गरिमामय आयोजन में अपनी सराहनीय सेवायें दे रहे हैं। गुरुदेव के स्वर्गारोहण दिवस पर सुबह छह बजे से जैन दादावाड़ी में गुरु इकतीसा का पाठ एवं आरती हुई । प्रातः 9.30 बजे जैन बगीचा में गुणानुवाद सभा, प्रातः 10 बजे से गुरू पूजा के साथ ही दोपहर 2.30 बजे भव्य शोभा यात्रा निकाली गई । रात्रि में सात बजे से जैन बगीचे में भक्ति गीत स्पर्धा शुरू हुई, जिसमें पूरे कार्यक्रम के दौरान जैन बगीचा श्रोताओं तथा गुरुभक्तों से भरा रहा।

संस्था की तरफ से प्रमुख पदाधिकारियों सहित जगदीशभाई शाह, सुरेश ललवानी, भूपेंद्र डाकलिया, सुशील छाजेड़, मनोज झाबक, मनीष कोठारी, विकास दुग्गड़, नरेंद्र नखत, रमेश बैद, लूणकरण चौरड़िया, गौतम नखत, प्रसन्न गोलछा, रवि नखत, ललित भंसाली, फणेंद्र बैद, पीयूष बैद, अंकुश छाजेड़, शुभम ललवानी, विजय बैद, सुमीत गोलछा, आकाश ओस्तवाल, गुलाब छाजेड़, कल्पेश शाह, पंकज कोठारी, विजय बरडिया, आकाश बैद सहित अन्य अनेक युवाओं ने अतिथियों का स्वागत किया। अतिथियों ने गुरुदेव के उपकारों का स्मरण करते हुए आयोजन की भव्यता की मुक्त कंठ से सराहना की।

प्रतियोगिता के निर्णायक शैल साहू के अलावा अंजलि चोपड़ा और श्रीमती अंजू पारख, भावेश बैद तथा गुरुदेव मंडल रायपुर ने विशेष प्रस्तुति दी। प्रतियोगिता के परिणाम इस प्रकार रहे – भक्ति गीत पुरुष वर्ग में प्रथम शांति विजय युवा मंडल भिलाई – 3, द्वितीय शांति विजय भक्त मंडल खैरागढ़ और तृतीय समृद्धि मंडल रिसाली। महिला वर्ग में प्रथम कुशल सूरि महिला मंडल दिल्ली राजहरा, द्वितीय संस्कृति महिला मंच भिलाई और तृतीय ऋषभ बहू मंडल रायपुर। बाल वर्ग में अव्वल आरोह बाल मंडल राजिम रहा। शोभा यात्रा की प्रतियोगिता में प्रथम पार्श्व कुशल महिला मंडल भाटापारा, द्वितीय मनोहर महिला मंडल खरियाररोड तथा तृतीय संस्कृति महिला मंच भिलाई। तीनों वर्गों में संयुक्त प्रथम शांति विजय युवा मंडल भिलाई – 3, द्वितीय कुशल सूरि महिला मंडल दल्ली राजहरा और तृतीय संस्कृति महिला मंच भिलाई – 3 के अतिरिक्त सर्वश्रेष्ठ गायक रोहित गटागट भिलाई, सर्वश्रेष्ठ गायिका दिव्या लोढा दिल्ली राजहरा और सर्वश्रेष्ठ वादक का पुरस्कार चिन्तामणि खैरागढ़ को प्रदान किया गया।



Leave a Reply
 

Your email address will not be published. Required fields are marked (*)

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top