ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

सम्भावित चक्रवात के लिए पश्चिम रेलवे पूर्णतः सतर्क

मुंबई। पालघर जिले में स्थित पश्चिम रेलवे के उपनगरीय रेल खंड सहित महाराष्ट्र के पश्चिमी तटीय इलाकों में आशंकित ओखी चक्रवात के आगमन की चेतावनी को दृष्टिगत रखते हुए पश्चिम रेलवे द्वारा सभी सम्बंधित विभागों को सतर्क करते हुए आवश्यक सावधानियाँ और समुचित व्यवस्थाएँ पूर्ण कर ली गई हैं।

चक्रवात की आशंका वाले क्षेत्रों में अतिवृष्टि की स्थिति में रेल पटरियों पर बढ़ने वाले जलस्तर की सघन निगरानी के लिए पश्चिम रेलवे के इंजीनियरिंग कंट्रोल रूम को सतर्क कर दिया गया है। इसी प्रकार किसी भी आशंकित आपदा जैसी स्थिति उत्पन्न होने पर सम्बंधित रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ को नियंत्रित करने और स्टेशन परिसरों से उनकी सुरक्षित निकासी सुनिश्चित करने के लिए पश्चिम रेलवे के रेल सुरक्षा बल एवं वाणिज्यिक नियंत्रण कक्ष को भी सचेत कर दिया गया है। चक्रवात की आशंका वाले विभिन्न रेल खंडों में रेल पटरियों की सघन निगरानी की जा रही है, वहीं पश्चिम रेलवे के आपदा प्रबंधन कक्ष को किसी भी आपातकालीन परिस्थिति के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाओं के साथ पूर्णतः तैयार रहने को कहा गया है।

चक्रवात की सूचना मिलने पर आपातकालीन बैठक आयोजित कर आवश्यक तैयारियों की समीक्षा की गई। इस क्रम में सभी आपातकालीन हेल्पलाइन नम्बरों को अपडेट किया गया है। विभिन्न स्टेशनों एवं यार्ड परिसरों में यात्रियों की भीड़ के नियंत्रण एवं अन्य सम्बंधित गतिविधियों के लिए आरपीएफ एवं अन्य सुरक्षा संगठनों के कर्मियों के अलावा टिकट चेकिंग स्टाफ को भी बड़ी संख्या में तैनात किया गया है। भीड़ के सुचारु नियंत्रण के लिए नियमित तौर पर विशेष उद्घोषणाएँ की जा रही हैं। पश्चिम रेलवे के तटीय इलाकों की निगरानी को सघन कर दिया गया है। वास्तविक समय के अनुरूप निगरानी के लिए महाराष्ट्र सरकार के आपदा प्रबंधन कक्ष से मौसम, तूफान एवं भारी बरसात के बारे में अद्यतन स्थिति की जानकारी हर घंटे में प्राप्त की जा रही है। निरीक्षण कर्मचारियों/क्षेत्रीय अधिकारियों को बिजली की अबाधित आपूर्ति सुनिश्चित करने तथा ओवर हैड उपकरण और अन्य इंजीनियरिंग एवं सिगनल व दूरसंचार उपकरणों सहित रेल सम्पत्ति की चौबीसों घंटे निगरानी के लिए सम्बंधित इलाकों में भेजा गया है।

किसी भी आपात स्थिति का सामना करने के लिए एक्सिडेंट रिलीफ ट्रेन, एक्सिडेंट रिलीफ मेडिकल वैन और रोड एआरटी सहित विभिन्न ब्रेक-डाउन उपकरणों को भी तैयार रखा गया है। इनके अलावा चक्रवात के दौरान ब्लैकआउट की स्थिति में विभिन्न स्थानों पर समुचित संख्या में डीजल जेनरेटर सेट तैयार रखने के लिए भी कहा गया है। आशंकित चक्रवात के सम्बंध में निर्धारित सामान्य एवं सहायक नियमों को दोहराते हुए सभी सम्बंधित रेल कर्मियों को समुचित निर्देश दिये गये हैं तथा आपातकालीन परिस्थिति से सम्बंधित स्टाफ को आवश्यक परामर्श दिया गया है।
*****



सम्बंधित लेख
 

Back to Top