आप यहाँ है :

दंग रह गई अमृता फडणवीस, जब दादी-नानी का रैंप वॉक देखा

मुंबई। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी श्रीमती अमृता देवेंद्र फडणवीस ने जब अपनी दादी और नानी की उम्र की महिलाओं को रैंप वॉक करते देखा तो वे भी उम्रदराज महिलाओं के उत्साह को हैरत भरी नजरों से देख दंग रह गईं। बीजेपी एवं लोढ़ा फाउंडेशन द्वारा महिलाओं की उद्यमवृत्ति को विकसित करने के प्रयास स्वरूप दो दिवसीय कार्यक्रम का उदघाटन करने आईं श्रीमती अमृता फडणवीस ने कहा कि नारी शक्ति को आगे लाने के लिए अपनी तरह का यह सबसे अलग आयोजन है। इस अवसर पर ‘बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ’ मिशन के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष में एक लाख रुपए के सहयोग का चैक उन्हें सौपा गया। ऑपेरा हाउस स्थित डायमंड मार्केट लेन में आयोजित इस आयोजन में करीब दस हजार से भी ज्यादा महिलाओं ने हिस्सा लिया। महिला दिवस पर मुंबई में सबसे ज्यादा महिलाओं की सहभागिता का यह सबसे बड़ा आयोजन रहा।

एक तरफ उम्रदराज महिलाएं जोश और जज्बे के साथ रैंप पर चलते हुए वक्त के साथ कदमताल करने के हौसले का प्रदर्शन कर रही थीं, तो दूसरी ओर आयोजन स्थल पर युवतियों द्वारा राष्ट्रभक्ति के परंपरागत गीतों की ताल पर बज रहे ढोल की गूंज लोगों के पांवों को थिरकने को मजबूर कर रही थी। बीजेपी की ओर से जिलाध्यक्ष सिद्धार्थ गमरे एवं लोढ़ा फाउंडेशन की ओर से श्रीमती शीतल लोढ़ा सहित ताड़देव की नगरसेवक श्रीमती सरिता पाटिल एवं वालकेश्वर की नगरसेवक श्रीमती ज्योत्सनाबेन मेहता ने श्रीमती अमृता फडणवीस का अभिनंदन किया। मलबार हिल के विधायक मंगल प्रभात लोढ़ा के मुताबिक महिला व्यापार पेठ की सारी आय मुख्यमंत्री सहायता कोष में प्रदान की जाएगी। 

विधायक लोढ़ा ने इस आयोजन की सफलता में सहभागी सभी संस्थाओं एवं महिलाओं का आभार जताया है। महिला सशक्तिकरण के लिए आयोजित इस कार्यक्रम में महिला व्यापार पेठ के में 50 से भी ज्यादा महिला संस्थाओं द्वारा गृह उद्योग निर्मित व अन्य वस्तुओं की दो दिवसीय सेल व प्रदर्शनी भी आयोजित की गई। मुंबई में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित इस सबसे विशाल आयोजन में करीब 6500 से भी ज्यादा महिलाओं ने होम मिनिस्टर, बेस्ट ड्रेस एवं कुकिंग कॉम्पीटिशन आदि प्रतियोगिताओं में भीग लेकर एक रिकॉर्ड कायम किया। करीब 1500 से भी ज्यादा दादी – नानी की ऊम्र की महिलाओं का रैंप वॉक इस आयोजन का सबसे बड़ा आकर्षण रहा। इस दो दिवसीय आयोजन में दस हजार से भी ज्यादा महिलाएं शामिल हुईं।

.

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top