आप यहाँ है :

विश्व स्वास्थ्य संगठन के कैलेंडर पर छा जाने वाली गीता कौन है

हिमाचल की रहने वाली गीता वर्मा को दुनिया के सबसे शक्तिशाली संगठन ने अपनी कैलेंडर गर्ल बनाया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के साल 2018 के कैलेंडर में जगह देकर इस संस्था ने भारत की गीता का सम्मान किया है।

गीता एक स्वास्थ्य कार्यकर्ता हैं और हिमांचल के घाटियों में बसे गावों और कस्बों में अपनी स्वास्थ्य सेवाएं देती हैं। पहाड़ी इलाके के दुर्गम रास्तों में गीता अपनी बाइक से जाती हैं। उनका काम आसान नहीं है।

बीते दिनों गीता और उनके साथ तीन लड़कियों ने हिमाचल की सराज घाटी के कठिन इलाकों में जाकर अनुसूचित जनजातियों के बच्चों को खसरा और रूबेला के टीके लगाए। इस दौरान गीता की मोटर साइकिल पर बैठे एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी।

इसी से विश्व स्वास्थ्य संगठन को गीता के बारे में पता चला। लिहाजा, डब्ल्यूएचओ ने गीता को सम्मानित करने के लिए उन्हें अपनी संस्था के लिए 2018 में कैलेंडर गर्ल के रूप में चुन लिया।

अब लोग गीता के काम और साहस को सलाम कर रहे हैं। गीता अपने नौकरी के अलावा भी स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं के लिए समर्पित हैं। वह इसके लिए कई अभियान भी चलाती रहती हैं।

हाल ही में उन्होने दूरस्थ गांवों में भी बच्चों को टीकाकरण करने के लिए अभियान चलाया था। गीता को ये सम्मान मिलने पर हिमाचल प्रेदश के सीएम जयराम ठाकुर ने उन्हें शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा है कि राज्य के लिए ये बेहद गर्व की बात है कि महिला स्वास्थ्य कर्मचारी की तस्वीर डब्ल्यूएचओ कैलेंडर में ली गई है।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top