आप यहाँ है :

छठ क्यों मनाते हैं?

वैसे तो हिन्दी महीने का प्रत्येक माह पूजा -पाठ और पर्व -त्यौहार लेकर आता है। कार्तिक महीने पवित्रतम माह माना जाता है ।इस महीने में एक तरफ जहां सबसे अधिक पर्व -त्यौहार मनाया जाता है वही इस महीने में चार दिवसीय छठ महापर्व भी मनाया जाता है। छठ प्रकृति उपासना एक मात्र महापर्व है जिसे त्रेतायुग में राजा श्री रामचन्द्र जी ने अपनी महारानी जनकनंदिनी सीताजी के साथ मनाया था।

महाभारत काल में कुंती ने मनाया था।छठ के चारों दिवस हरप्रकार से पवित्रता के संदेश देते हैं तथा मानव-प्रकृति के शाश्वत संबंधों को -“तेरा तूझको अर्पण को” चरितार्थ करते हैं। इसलिए भगवान सूर्यदेव और उनकी बहन छठपरमेश्वरी के चार दिवसीय महापर्व सभी के जीवन की मनोकामना पूर्ति तथा विशेष कर चर्मरोग से मुक्ति प्रदान करने वाला महापर्व है जिसमें खरना प्रसाद एवं ठेकुआ प्रसाद का सबसे अधिक महत्त्व उनके सेवन करने और कराने वाले को मिलता है। ओडिशा का कोणार्क सूर्य मंदिर चर्मरोग से आरोग्य के लिए विश्व प्रसिद्ध है।
-अशोक पाण्डेय

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top