आप यहाँ है :

दुबई में करोड़ों की कारें लावारिस क्यों पड़ी है

रियाद। कुछ लोगों को लग्जरी व महंगी कारों में घूमने का शौक होता है तो कुछ काम चलाने भर के कारों के इस्तेमाल से ही खुश नजर आते हैं। लेकिन, कुछ कार लवर्स ऐसे भी होते हैं जिनके पास भले ही महंगी कारों को खरीदने लायक पैसा नहीं होता फिर भी वे कुछ भी करके अपनी पसंदीदा महंगी कारें खरीद लेते हैं। लेकिन, दुबई में बीते कुछ सालों से कुछ ऐसा हो रहा जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे।

यहां दुनिया की सबसे महंगी कारें लावारिस हालत में कबाड़ की तरह यहां-वहां खड़ी मिलती हैं। बीते कुछ सालों में ऐसी हजारों लावारिस कारें मिलीं जिनकी कीमत करोड़ों में हैं। जिन कारों को खरीदने के सिर्फ आप सपने ही देखते होंगे वो अगर रोड पर कबाड़ की तरह सड़ रही हो तो आप क्या करेंगे?

बीते कुछ सालों में दुबई पुलिस ने लावारिस कारों के तीन हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए हैं। इसमें 23 कारें दुनिया में सबसे महंगी थीं जो ज्यादातर यहां के एयरपोर्ट पर पाई जाती हैं। एक के बाद एक ऐसे हजारों मामले सामने आने के बाद यह पता चला कि ऐसी कारों के लावारिस मिलने के पीछे की वजह है दुबई में लागू शरीयत कानून। शरीयत कानून के मुताबिक, अगर आप चेक या उधार पर कोई कार लेते हैं और चेक बाउंस हो जाता है तो आपको जेल जाना पड़ता है।

कुछ लोगों ने इसी कानून का मजाक बनाते हुए फर्जी चेक लगाकर ये कारें खरीदीं। इन महंगी व लग्जरी कारों में जमकर घूमे और जब चेक बाउंस हुआ तो इन्हें लावारिस हालत में छोड़ कर कहीं दूर चले गए।

साभार- नईदुनिया से



सम्बंधित लेख
 

Back to Top