Saturday, February 24, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिटीज़र आउट, एक्सीडेंट या कॉन्सपिरेसी: गोधरा 1 मार्च 2024 को सिनेमा में...

टीज़र आउट, एक्सीडेंट या कॉन्सपिरेसी: गोधरा 1 मार्च 2024 को सिनेमा में होगी रिलीज़

22 वर्ष के बाद गोधरा का सच आएगा सामने : एक्सीडेंट या कॉन्सपिरेसी: गोधरा, टीज़र आउट

अनाउंसमेंट के बाद से सुर्ख़ियों में रही फ़िल्म एक्सीडेंट या कॉन्सपिरेसी: गोधरा का टीज़र जारी कर दिया गया हैं। यह फिल्म 22 साल पहले घटित कभी नहीं भूलने वाली एक दर्दनाक घटना से पर्दा उठाएगी। एक ऐसी भयानक घटना जिसका दर्द और रोष गुजरात के साथ पूरा देश में आज भी महसूस होती है।

टीज़र की शुरुआत एक जलती हुई ट्रेन – साबरमती एक्सप्रेस की भयावह तस्वीरों के साथ होती है। यह जलती हुई ट्रेन गोधरा कांड की काली छायों को उजागर करती है। एक मिनट के इस विडियो में एक संवाद में मनोज जोशी कहते है कि गुजरात दंग़ो का सत्य जानना है तो उसके लिए कार सेवकों की हत्या की कांसपीरेंसी को हमें समझना ही होगा।

अभिनेता रणवीर शौरी वकील के किरदार में कहते है कि ‘साबरमती एक्सप्रेस में हुई घटना एक एक्सीडेंट थी यह कोई कॉन्सपिरेसी नहीं थी, टीज़र के आख़िरी हिस्से में एक जलती हुई ट्रेन में दहशत और निराशा भरी आवाज़ आती है। क्या फ़र्क़ पड़ता है, सालों से हम जैसे लोग अपनी फ़ैमिली को ऐसे ही खोते आए हैं। इस सवाद के साथ गोधरा का यह झकझोर देने वाला टीज़र कई सारे दर्द और सवाल पैदा कर रहा है।

ओम त्रिनेत्र फिल्म्स के बैनर तले निर्मित इस फिल्म में रणवीर शौरी, मनोज जोशी, हितु कनोडिया, डेनिसा घुमरा, गणेश यादव, मकरंद शुक्ला और राजीव सुरती जैसे कई अभिनेता प्रमुख किरदारों में नज़र आएंगे  हैं। प्रतिभाशाली अभिनेताओं के साथ इस दुर्भाग्यपूर्ण दिन कहानी को पर्दे पर जीवंत किया गया है जिसने इतिहास की दिशा बदल दी।

निर्देशक एमके शिवाक्ष फिल्म के बारे में बताते हैं कि फ़िल्म का उद्देश्य गोधरा की घटना को उजागर करना है। टीज़र में उठाए गए सवाल गहरे हैं: गोधरा कांड के पीछे का सच क्या है? पीड़ितों की पीड़ा दुर्घटनाओं और विवादों के बीच क्यों दब गई है? फिल्म का उद्देश्य स्पष्ट है – सच्चाई को उजागर करना, यह पता लगाना कि क्या ट्रेन में आग लगना एक दुर्घटना थी, या बढ़ते तनाव के कारण यह एक पूर्व-निर्धारित घटना थी।

निर्माता बीजे पुरोहित बताते हैं, “एक्सीडेंट या कॉन्सपिरेसी: गोधरा फ़िक्शन या प्रोपोगेंडा फ़िल्म नहीं यह गोधरा घटना की जांच के लिए स्थापित नानावती मेहता आयोग की रिपोर्ट पर आधारित है। यह दर्शकों को उस दर्दनाक घटना की सच्चाई बताइएगा जो आज भी पीड़ितों के दिलों में दर्द के साथ गूंजता है यह सच्चाई हैं उन सभी पीड़ितों की जिन्होंने उस दुर्भाग्यपूर्ण दिन जलती हुई ट्रेन देखी थी।”

एक्सीडेंट या कॉन्सपिरेसी: गोधरा,  1 मार्च 2024 को बड़े पर्दे पर प्रदर्शित होने वाली है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार