Saturday, March 2, 2024
spot_img

Monthly Archives: January, 2022

मजबूरी का नाम ही महात्मा गांधी था

अगर गोडसे को संघी सिद्ध कर गरियाने का मक़सद न हो तो गांधी का नाम भी न लें। अलग बात है कि न गोडसे संघी था , न सावरकर। दोनों हिंदू महासभा से थे। गोडसे हत्यारा था , इस में क्या शक़ है।

ग्रामीण विकास पर केंद्रित रहेगा आगामी बजट

हालांकि भारत में अब सड़कें, स्वास्थ्य, शिक्षा एवं आवास प्रदान किए जाने सम्बंधी मुद्दे ठीक से हल किए जा रहे हैं। स्पष्ट तौर पर बदलाव हो रहा है एवं साफ दिख भी रहा है। प्रधान मंत्री आवास योजना (ग्रामीण) में बहुत अच्छा काम हुआ है।

नए युगबोध का दस्तावेज

इस तरह इस किताब में, नए युगबोध का ऐसा कोई विषय नहीं जो अछूता हो; अपनी पुस्तक में लेखक ने नए भारत से हमें मिलवाया है, नए भारतबोध के साथ। किताब पढ़कर एक आम पाठक शायद आखिर में यही सोचे कि पत्रकारिता के पाठ्यक्रम में कैसी किताबें पढ़ाई जानी चाहिए

ईसाई बहन ने स्वीकारा सनातन वैदिक धर्म

श्री वेदपाल शास्त्री, श्री अशोक आर्य, श्री रमेश आर्य, श्री ब्रह्मदेव जी, ओम मुनि जी, जयराम जी आर्य , आर्य बहादुर सिंह गुर्जर आदि कई गणमान्य महानुभावों की उपस्थिति में शुद्धि एवं विवाह कार्यक्रम सम्पन्न हुआ।

वैदिक अंग्रेजी साहित्य पर अंग्रेजी में नए ग्रंथ ‘फाउण्टेन आफ वैदिक विज़डम का प्रकाशन

हमें विश्वास है कि यह पुस्तक अंग्रेजी जानने वाले पाठकों के लिए उपयोगी होगी। इसे पढ़कर वह वेदों के महत्व को जान सकेंगे। वेद ईश्वरीय ज्ञान है तथा सब सत्य विद्याओं का पुस्तक है। इस तथ्य का अनुभव भी इस पुस्तक में दी गई मन्त्र की व्याख्याओं को पढ़कर होता है।

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक का पैसेंजर एसोसिएशन के प्रतिनिधियों से संवाद

श्री कंसल ने अपने संबोधन में बुनियादी ढांचे और यात्री सुविधाओं में सुधार के लिए मुंबई उपनगरीय खंड में किए गए विभिन्न विकास कार्यों का उल्लेख किया। मुंबई उपनगरीय खंड पर यात्री सुविधाओं,

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक द्वारा मिशन अमानत वेबपेज और ई-मेरी सहेली परियोजना का उद्घाटन

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार डिजिटल इंडिया पहल को बढ़ावा देने के लिए पश्चिम रेलवे ने मिशन अमानत के उन्नत सिंगल विंडो वेबपेज और अपग्रेडेड ई-मेरी सहेली वेब लॉन्च किया है।

युवा पीढ़ी के भविष्य को संवार रहा है एटीडीसी

एटीडीसी रोहिणी का मूल उद्देश्य अपने विद्यार्थियों का चतुर्मुखी विकास कर उनको आत्मनिर्भर बनाना है। केंद्र अपने विद्यार्थियों को कोर्स पूरा होने पर उनकी कार्यकुशलता अनुभव के आंकलन के अनुसार, वस्त्र उद्योग के क्षेत्र में रोजगार के अवसर मुहैया कराता है।

80 घाव लगने के बाद भी युद्ध लड़ने वाले महान क्षत्रिय योद्धा महाराणा सांगा

खानवा के युद्ध मे राणा सांगा के चेहरे पर एक तीर आकर लगा जिससे राणा मूर्छित हो गए ,परिस्थिति को समझते हुए उनके किसी विश्वास पात्र ने उन्हें मूर्छित अवस्था मे रण से दूर भिजवा दिया एवं खुद उनका मुकुट पहनकर युद्ध किया ,

श्रीमती कंसल द्वारा कला एवं संस्‍कृति को बढ़ावा देने के लिए विशेष प्रोत्साहन

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, श्रीमती तनुजा कंसल पश्चिम रेलवे ललित कला और सांस्कृतिक संघ के कलाकारों की संगीत के प्रति प्रतिबद्धता से अत्यधिक प्रभावित हुईं
- Advertisment -
Google search engine

Most Read