मोदीजी के डिजिटल भारत के लिए रेल्वे ने पहल की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के मकसद से रेलवे अगले साल के आखिर तक 400 स्टेशनों को वाई-फाई नेटवर्क से लैस करेगा। इसके अलावा रेलवे ने यह भी तय किया है कि इसके बाद बी कैटिगरी के 302 स्टेशनों पर भी वाई-फाई नेटवर्क उपलब्ध कराएगा। रेलवे के सूत्रों के मुताबिक, इस वक्त रेलवे के महज नौ रेलवे स्टेशन ही ऐसे हैं, जहां वाई-फाई की सुविधा है। इन स्टेशनों पर पैसेंजर आधे घंटे तक फ्री वाई-फाई का फायदा उठा सकता है, लेकिन उसके बाद अगर वह वाई-फाई इस्तेमाल करना चाहता है तो उसे इसके लिए अलग से राशि चुकानी होती है।
 
अभी ऐसे स्टेशनों में नई दिल्ली, आगरा, वाराणसी, चेन्नै और सीएसटी मुंबई स्टेशन ही हैं लेकिन रेलवे अब इस दिशा में तेजी से आगे बढ़ना चाहता है। सूत्रों का कहना है कि इसी वजह से रेलवे ने तय किया है कि ए1 श्रेणी के 75 स्टेशनों पर वह जल्द से जल्द ब्रॉडबैंड वाई-फाई सुविधा उपलब्ध कराना चाहता है। इसके अलावा ए श्रेणी के 332 रेलवे स्टेशन हैं। रेलवे के अफसरों का कहना है कि ए1 और ए श्रेणी के कुल 409 स्टेशनों पर वाई-फाई की सुविधा के लिए दिसंबर 2016 का लक्ष्य तय किया गया है। इसके बाद इसे बी श्रेणी के 302 और स्टेशनों तक बढ़ाया जाएगा।