रूस के आयुर्वेदिक चिकित्सक, यूट्यूबर, व्लॉगर और गायक किरण आनंद पुजारी बनेंगे

रूस में चिकित्सा करने वाले आयुर्वेदिक डॉक्टर, यूट्यूबर, व्लॉगर और सिंगर किरण आनंद केरल के प्रसिद्ध गुरुवायूर मंदिर के मुख्य पुजारी बनेंगे। यहां मुख्य पुजारी को ‘मेलशांति’ कहा जाता है। बता दें कि गुरुवायूर मंदिर केरल का सर्वाधिक प्रसिद्ध मंदिर है। यहां भगवान कृष्ण के बालस्वरूप की पूजा होती है। बताया जाता है कि त्रिशूर जिले में स्थित यह मंदिर 5 हजार साल पुराना है।

34 साल के किरण आनंद कक्कड़ रूस में आयुर्वेदिक क्लीनिक चलाते थे। अब उन्हें गुरुवायूर मंदिर के अगले मेलशांति के रूप में चुनाव गया है। इस लाइन में बहुत सारे पुजारी थे लेकिन ड्रॉ के माध्यम से किरण आनंद का नाम चुना गया। बताया जा रहा है कि वह अगले महीने मुख्य पुजारी का पद संभाल सकते हैं. बता दें कि इस मंदिर में 6 महीने की अवधि के लिए ही मुख्य पुजारी बनाया जाता है। इसके बाद दूसरा पुजारी पद ग्रहण करता है।

किरण आनंद ने कहा, यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है कि भगवान के चरणों की सेवा करने का मौका मिलेगा। इस पद के लिए आवेदन करने से पहले ही उन्हें कई पूजा प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ा। यहां माना जाता है कि विदेश की धरती पर कई नकारात्मक ऊर्जा प्रभावित करती हैं। ऐसे में इनको दूर करने के लिए पूजा पाठ जरूरी है। परंपरा के मुताबिक पुजारी रहते हुए किसी को विदेश जाने की इजाज़त नहीं है। अगर कोई विदेश जाता भी है तो उसे पूजा-पाठ के जरिए इसका निदान करना होगा।

किरण आनंद से जब सवाल किया गया कि रूस में ऐश की जिंदगी छोड़कर वह पुजारी क्यों बनना चाहते हैं। इसपर उन्होंने कहा कि यह उनके पिता की इच्छा थी। उन्होंने बताया, हमारे परिवार में लोग पुजारी रहे हैं। हमारे पिता भी पुजारी थी। मेरे पिता बूढ़े हो गए हैं इसलिए उन्होंने मुझे वापस आने को कहा था। किरण के पिता भी मंदिर में सेवा करते रहे हैं।