Thursday, June 13, 2024
spot_img
Homeभारत गौरवभारत और पाकिस्तान की सैन्य शक्ति के बारे में कुछ रोचक बातें

भारत और पाकिस्तान की सैन्य शक्ति के बारे में कुछ रोचक बातें

भारत बनाम पाकिस्तान की सैन्य शक्ति
इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रेटीजिक स्टडीज की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत के पास थलसेना में करीब 13 लाख 25 हजार सैनिक हैं और 9 लाख 50 हजार रिजर्व सैनिक हैं, जबकि पाकिस्तान के पास 6 लाख 17 हजार सैनिक हैं। भारत के पास पाकिस्तान से दोगुनी ताकत है। भारतीय सेना के बेड़े में सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस, अग्नि, पृथ्वी, आकाश और नाग जैसी आधुनिक मिसाइलें हैं, वहीं पाकिस्तान के पास गौरी, शाहीन, गजनवी, हत्फ और बाबर जैसी मिसाइलें हैं। अग्नि 5 भारत की सबसे आधुनिक और घातक मिसाइल है। इस इंटर कॉन्टिनेटल बैलेस्टिक मिसाइल की मारक क्षमता 5,000 ‍किलोमीटर है, जबकि बाबर की मारक क्षमता केवल 1,000 किलोमीटर है। भारत के पास 1,600 टैंक हैं, जबकि पाकिस्तान के पास 1,000 टैंक हैं।

आसमान में भी भारत शक्तिशाली
वायुसेना की बात की जाए तो भारत इसमें पाकिस्तान से कहीं आगे है। भारतीय वायुसेना विश्व की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना है। चीन से भी बेहतर मानी जाने वाली भारतीय वायुसेना के पास 1 लाख 27 हजार जवान हैं, जबकि पाकिस्तान के पास सिर्फ 65 हजार वायुसैनिक हैं। विमानों की बात की जाए तो भारत के पास 1,380 विमानों का बेड़ा है, जिसमें सुखोई एम 30, मिग-29, मिग-27, मिग-21, मिराज और जगुआर जैसे आधुनिक विमान हैं। पाकिस्तान के पास चीनी एफ-7, अमेरिकी एफ-16 और मिराज शामिल हैं। भारत के पास एक एयरकाफ्ट करियर भी है, जबकि पाकिस्तान के पास नहीं है। भारत के पास पाकिस्तान से सटे 12 एयर बेस हैं, जहां मिग, जगुआर, सुखोई और मिराज जैसे लड़ाकू विमान तैनात हैं। इसके मुकाबले पाकिस्तानी वायुसेना के पास 7 एयरबेस हैं, जहां मिराज, जेएफ और एफ 16 जैसे लड़ाकू विमानों की तैनाती है।

जल में भी पाकिस्तान पर भारी भारत
भारत के पास करीब 58,350 जल सैनिक हैं, जबकि पाकिस्तान के पास इनकी संख्या मात्र 25 हजार है। भारत के पास 27 पनडुब्बी, जबकि पाकिस्तान के पास 10 पनडुब्बी हैं। भारत के पास 27 युद्धपोत हैं, जबकि पाकिस्तान के पास 11 युद्धपोत हैं।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार