ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

हिन्दी जगत
 

  • आजमगढ़ में हुआ राष्ट्रीय कवि सम्मेलन का आयोजन

    आजमगढ़ में हुआ राष्ट्रीय कवि सम्मेलन का आयोजन

    मुख्य अतिथि भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्रनाथ पाण्डेय, संगठन मंत्री हृदय नाथ सिंह व आयोजक खड़ग बहादुर सिंह ने संयुक्त रूप से माँ राधिका देवी व स्व बाबू कृष्ण मुरारी सिंह के चित्र पर श्रध्दासुमन अर्पित कर उन्हें नमन किया. इसके बाद माँ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया. सम्मलेन में आये नामचीन कवियों ने अपनी एक से बढ़कर एक

  • सेंट पीटर्सबर्ग में बहुभाषी काव्यसंध्या संपन्न   डॉ. ऋषभ देव शर्मा, सेंट पीटर्सबर्ग  से

    सेंट पीटर्सबर्ग में बहुभाषी काव्यसंध्या संपन्न डॉ. ऋषभ देव शर्मा, सेंट पीटर्सबर्ग से

    सेंट पीटर्सबर्ग, रूस। साहित्यिक-सांस्कृतिक शोध संस्था, मुंबई द्वारा आयोजित सप्ताह भर की साहित्यिक रूस-यात्रा के अंतिम चरण में यहाँ पांच रूसी विद्वानों के सान्निध्य में बहुभाषी काव्यसंध्या का आयोज

  • लखनऊ में हिंदी पत्रकारिता:स्वाधीन चेतना और युगबोध’ पर राष्ट्रीय संगोष्ठी 30-31 मई को

    30 मई,1826 को पंडित जुगुल किशोर शुकुल के संपादकत्व में हिंदी के प्रथम साप्ताहिक समाचार पत्र 'उदंत मार्तण्ड' का प्रकाशन हुआ। यही कारण है कि इस तिथि को 'हिंदी पत्रकारिता दिवस

  • कवियोंं ने कविता को फूहड़ मजाक बना दिया है

    कवियोंं ने कविता को फूहड़ मजाक बना दिया है

    कविता आम लोगों से निकलकर सभागारों तक सिमट गयी है। एक मजाक बन गयी है। जरूरत है इसे संवारने की,जो अब बहुत ही मुश्किल लगता है। चाहे जिस गांव, शहर में जाइए, ढेरो ऐसे मन मूढ़ मुंडी हिलाते मिल जाएंगे- वाह-वाह, क्या कहने, क्या खूब लिखा आपने, गजब कर दिया, ऐसा तो ग़ालिब-मीर, रसखान भी कहां लिख पाते। तुलसी दास और कालिदास तो बस ऐसे ही। इसलिए छुट

  • ग्यारहवाँ विश्व हिंदी सम्मेलन 18 से 20 अगस्त तक मॉरीशस में

    ग्यारहवां विश्व हिंदी सम्मेलन 18 से 20 अगस्त 2018 को मॉरिशस में होने जा रहा है। आज नई दिल्ली में विदेश मंत्री माननीया श्रीमती सुषमा स्वराज और मॉरिशस की शिक्षा मंत्री माननीया श्रीमती लीला देवी दुखन लछुमन ने संयु

  • साहित्यसुधा अप्रैल(द्वितीय) 2018 अंक

    कृपया साहित्यसुधा की वेबसाइट पर जा कर साहित्य का आनंद उठायें। आपसे अनुरोध है कि इसमें प्रकाशित सामग्री पर अपनी प्रतिक्रिया अवश्य भेजें जिससे रचनाकारों को प्रोत्साहन मिलेगा।

  • हिंदी के नाम पर पाखंड

    हिंदी के नाम पर पाखंड

    ताजा खबर यह है कि विश्व हिंदी सम्मेलन का 11 वां अधिवेशन अब मॉरिशस में होगा। मोरिशस की शिक्षा मंत्री लीलादेवी दोखुन ने सम्मेलन की वेबसाइट का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि ‘आज हिंदी की हालत पानी में जूझते हुए जहाज की तरह हो गई है।’ अच्छा हुआ कि उन्होंने डूबते हुए जहाज नहीं कहा। पिछले 70 सालों में यदि हमारी सरकारों का वश चलता तो वे हिंदी के इस जहाज को डुबाकर ही दम लेतीं।

  • तकनीकी विषयों को मातृभाषा में समझना-समझाना ज्यादा आसान

    तकनीकी विषयों को मातृभाषा में समझना-समझाना ज्यादा आसान

    रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य हिन्दी ग्रंथ अकादमी द्वारा यहां आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला के दूसरे दिन आज वक्ताओं ने इंजीनियरिंग और अन्य तकनीकी विषयों की पढ़ाई हिन्दी सहित देश की प्रादेशिक भाषाओं में करने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने कहा कि तकनीकी विषयों को मातृभाषाओं में समझना और समझाना ज्यादा आसान होता है। यह कार्यशाला शैक्षणिक पुस्तकों के लेखन में तकनीकी शब्दावली का महत्व विषय पर आयोजित की गई। आयोजन केन्द्र सरकार के वैज्ञानिक एवं तकनीकी शब्दावली आयोग के सहयोग से किया गया।

  • अब हिंदी भी बोलेगा गूगल

    गूगल ने शुक्रवार को यह खबर दी है कि इसका डिजिटल असिस्टेंट सॉफ्टवेअर इस साल के अंत तक 30 से ज्यादा भाषाओं में उपलब्ध होगा। गूगल, ऐमजॉन और अन्य कंपनियों के मुकाबले अपने आर्टिफिशल इंटेलिजेंस को मजबूत करने की कोशिशों के तहत ऐसा कर रहा है।

  • मातृ भाषा संवर्धन से राष्ट्र भाषा होगी मजबूत-पद्म श्री उषा

    मातृ भाषा संवर्धन से राष्ट्र भाषा होगी मजबूत-पद्म श्री उषा

    गाथांतर सम्मान में महिला साहित्यकार हुई सम्मानित -सम्मान के बाद कथाकारों ने किया कहानी पाठ -संभावना कला मंच गाज़ीपुर के कलाकारों द्वारा कविता चित्र प्रदर्शनी लगाई गई -आज़मगढ़ में पहली बार हुआ ऐसा कार्यक्रम

Back to Top