ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

हिन्दी जगत
 

  • मुक्तिबोध ने राजनांदगांव में रचा हिंदी कविता

    राजनांदगांव। डॉ. चन्द्रकुमार जैन ने कहा है कि हिंदी कविता के महानतम हस्ताक्षर गजानन माधव मुक्तिबोध का छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव शहर से गहरा नाता रहा है।

  • हिन्दी लेखिका कृष्णा सोबती को मिलेगा साल 2017 का ज्ञानपीठ पुरस्कार

    हिन्दी लेखिका कृष्णा सोबती को मिलेगा साल 2017 का ज्ञानपीठ पुरस्कार

    हिन्दी की प्रख्यात लेखिका कृष्णा सोबती को इस वर्ष का ज्ञानपीठ पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की गई है। भारतीय ज्ञानपीठ के निणार्यक मंडल की बैठक में 92 वर्षीय सोबती का चयन किया गया। यह बैठक हिन्दी के सुप्रसिद्ध मार्क्सवादी आलोचक डॉ. नामवर सिंह की अध्यक्षता में हुई।

  • उमेश नेमा, बिनय षडंगी राजाराम और चरनजीत कुकरेजा का रचना-पाठ सम्पन्न

    भोपाल। साहित्य अकादमी, मध्यप्रदेश संस्कृति परिषद्, संस्कृति विभाग, भोपाल द्वारा आयोजित निरंतर रचनापाठ की शृंखला के अंतर्गत वरिष्ठ साहित्यकार श्री महेश सक्सेना की अध्यक्षता में उमेश नेमा, बिनय षडंगी राजाराम और चरनजीत कुकरेजा का रचना-पाठ स्वराज भवन के सभागार में संपन्न हुआ।

  • मतदाता जागरूकता और लोकतंत्र की मज़बूती पर हुआ जोरदार मंथन

    मतदाता जागरूकता और लोकतंत्र की मज़बूती पर हुआ जोरदार मंथन

    राजनांदगांव। राष्ट्रीय मतदाता जागरूकता अभियान ( स्वीप प्लान ) अंतर्गत शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में निबंध एवं वाद-विवाद की प्रतियोगिताएं अभूतपूर्व उत्साह के साथ सम्पन्न हुई। इन विधाओं के संयोजक डॉ. चन्द्रकुमार जैन ने भारत निर्वाचन आयोग की मंशा और जिला लोक शिक्षा समिति और स्वीप प्लान की अपेक्षा के अनुरूप प्रतियोगिता के उद्देश्य और मतदान के प्रति बहुआयामी जागरूकता की ज़रुरत को प्रेरक शब्दों में समझाया।

  • हिंदी प्रेमियों हिंदी के लिए ये पत्र भेजिये प्रधान मंत्री जी को

    प्रति, श्री नरेन्द्रजी मोदी, प्रधानमंत्री, भारत सरकार, नईदिल्ली विषय- भारत बने भारत महोदय, सर्वविदित है कि संभवत: विश्व में हमारा देश एकमात्र देश है जो दो अलग-अलग भाषाओं और लिपियों में दो अलग-अलग नामों से जाना जाता है- हिन्दी/देवनागरी में भारत, इंग्लिश/रोमन तथा अन्य विदेशी भाषा और लिपियों में India/इंडिया। शर्म आती है, दु:ख होता […]

  • मातृभाषाओं को बचाने अभियान चलाएगा संघ

    भोपाल। अंग्रेजी भाषा के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूरे देश में मातृभाषा बचाओ अभियान चलाएगा। संघ का मानना है कि अंग्रेजी माध्यम के बालवाड़ी (प्ले स्कूल), शिशु सदन (नर्सरी) और पूर्व-प्राथमिक विद्यालयों (प्री-प्राइमरी) के बढ़ते प्रभाव के कारण बच्चे अपनी मातृभाषा से दूर होते जा रहे हैं।

  • दिग्विजय महाविद्यालय के हिंदी विभाग का आयोजन

    राजनांदगांव। शासकीय दिग्विजय स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय के हिंदी विभाग के तत्वावधान में छह अक्टूबर को राज्य स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। कार्यशाला का विषय है - कार्यालयीन हिंदी, स्वरूप एवं विशेषताएँ।

  • हिंदी साहित्य परिषद् के पदाधिकारी  उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए तैयार

    हिंदी साहित्य परिषद् के पदाधिकारी उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए तैयार

    शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में आयोजित एक समारोह में स्नातकोत्तर हिंदी साहित्य परिषद् की घोषणा की गई। प्राचार्य डॉ. आर.एन.सिंह के मुख्य आतिथ्य और डॉ. चन्द्रकुमार जैन की अध्यक्षता में यह कार्यक्रम सोत्साह संपन्न हुआ।

  • हिंदी के दुश्मन, हिंदी की कमाई खाने वाले

    हिंदी के दुश्मन, हिंदी की कमाई खाने वाले

    हिंदी सांस में है, पानी में, पहाड़ में, खेत में, सेल्फी में, शहर में, देहात में। इसलिए जाहिर है कि हिंदी की धमक मीडिया में भी है। 90 के दशक में जब निजी मीडिया भारत में दस्तक दे रहा था, मुझे देश के पहले निजी चैनल– जी टीवी का हिस्सा बनने का मौका मिला।

  • सरकारी और असरकारी हिंदी की यात्रा

    सरकारी और असरकारी हिंदी की यात्रा

    14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। वर्ष 1949 में इसी तारीख को संविधान सभा ने एक लंबी और सजीव बहस के बाद देवनागरी लिपि में हिंदी को भारतीय संघ की राजभाषा के रूप में अपनाया था। भारतीय संविधान के भाग XVII के अनुच्छेद 343 से 351 तक इसी विषय के बारे में है।

  • Page 1 of 22
    1 2 3 22

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top

Page 1 of 22
1 2 3 22