आप यहाँ है :

दुनिया मेरे आगे
 

  • अथ गौरी लंकेश कथा और कर्नाटक में हुए हत्याकांड

    अथ गौरी लंकेश कथा और कर्नाटक में हुए हत्याकांड

    वामपंथी पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद देश में जिस प्रकार का वातावरण बनाया गया है, वह आश्चर्यचकित करता है। नि:संदेह हत्या का विरोध किया जाना चाहिए। सामान्य व्यक्ति की हत्या भी सभ्य समाज के माथे पर कलंक है।

  • शिक्षा में अरुचि : दायित्व किसका ?

    सर्वपल्ली डॉ राधाकृष्णन के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में मनाया जाने वाला ‘शिक्षक दिवस’, विद्यालयों और शिक्षण संस्थानों में मनाये जाने वाले किसी उत्सव से कम नहीं है।

  • भारतीय महिलाओं की दिशा एवं दशा

    भारतीय महिलाओं की दिशा एवं दशा

    गौरतलब है कि आजाद भारत में महिलाओं ने दिन-प्रतिदिन अपनी लगन, मेहनत एवं सराहनीय कार्यो द्वारा राष्ट्रीय पटल पर अपनी पहचान बनाने में कामयाब हुई हैं. मौजूदा दौर में महिलाएँ नए भारत के आगाज़ की अहम कड़ी दिख रही हैं.

  • पाखंडियों के आगे जब सरकारें और नेता हाजरी लगाते हैं

    पाखंडियों के आगे जब सरकारें और नेता हाजरी लगाते हैं

    गुरमीत राम रहीम प्रकरण में ऐसे अनेक पहलू उभरे जिन पर गहन चर्चा आवश्यक है। पूरे देश के मानस को टटोला जाए तो इस प्रकरण को लेकर आपको आंतरिक उबाल दिखेगा। लोेगों को साफ लग रहा है कि जो कुछ नहीं होना चाहिए था

  • श्रीराम नगर, लाल बाग-‘‘पहले भी हारा और अब भी हार रहे हैं’’

    दिल्ली का पूर्वी इलाका शहादरा एक समय में सबसे लम्बे फ्लाईओवर के लिए जाना जाता था। फ्लाईओवर के ऊपर सरपट दौड़ती हुई गाड़ियां दिल्ली से यूपी और यूपी से दिल्ली में आती-जाती हैं। दिल्ली के लोगों ने सबसे पहला मेट्रो का सफर शहादरा से कश्मीरी गेट और कश्मीरी गेट से शहादरा तक किया था।

  • युद्ध का अंधेरा नहीं, शांति का उजाला हो

    युद्ध का अंधेरा नहीं, शांति का उजाला हो

    भूटान के दावे वाले डोकलाम में भारत और चीन की सेनाओं के बीच जारी तनातनी जिस तरह खत्म हुई वह भारतीय कूटनीति की एक बड़ी कामयाबी है। इससे न केवल भारत का अंतरराष्ट्रीय कद बढेगा, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि एक साहसी लेकिन अहिंसक नेता के रूप में सामने आयेंगी।

  • महिला सशस्त्रीकरण: ढोल का पोल

    महिला सशस्त्रीकरण: ढोल का पोल

    एक ही समय व एक ही प्रवाह में तलाक-तलाक़-तलाक़ बोलकर अपनी पत्नी को तलाक़ दिए जाने जैसी भौंडी व अमानवीय परंपरा को पिछले दिनों देश के सर्वोच्च न्यायालय ने असंवैधानिक क़रार दे दिया। ग़ौरतलब है कि इस्लाम धर्म अपने प्रचलन में आने के कुछ समय बाद से ही चार मुख्य अलग-अलग वर्गों में बंटा हुआ है।

  • रुस अमेरिकी तनाव चिंताजनक

    रुस अमेरिकी तनाव चिंताजनक

    रुस अमेरिका संबंधों का शीतयुद्ध के दौरान की तनाव की अवस्था में पहुुचना पूरी दुनिया के लिए चिंताजनक स्थिति है। एक ओर अमेरिकी कांग्रेस ने रुस पर और कड़े प्रतिबंधों वाला विधेयक पारित कर दिया तो दूसरी ओर रुसी राष्ट्रपति ब्लादीमिर पुतिन ने अमेरिका के 755 राजनयिकों को देश छोड़ने का आदेश जारी किया।

  • भारतीयों पर आलसी होने का दाग लगना

    भारतीयों पर आलसी होने का दाग लगना

    दुनिया के सबसे आलसी देशों में भारत का अव्वल पंक्ति में आना न केवल शर्मनाक बल्कि सोचनीय स्थिति को दर्शाता है। जिस देश का प्रधानमंत्री 18 से 20 घंटे प्रतिदिन काम करता हो, वहां के आम नागरिकों को आलसी होने का तमगा मिलना, विडम्बनापूर्ण है।

  • सिर्फ़ अपनी पीठ न थपथपाये सरकार

    देश में आज भी छोटे-बड़े क़स्बों और गांव-देहात में पारंपरिक चूल्हे पर खाना पकाया जाता है। इनमें लकड़ियां और उपले जलाए जाते हैं। इसके अलावा अंगीठी का भी इस्तेमाल किया जाता है। अंगीठी में लकड़ी और पत्थर के कोयले जलाए जाते हैं।

  • Page 1 of 17
    1 2 3 17

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top

Page 1 of 17
1 2 3 17