Thursday, February 29, 2024
spot_img
Homeतकनीकक्या है वोट्सएप्प की नई बिजनेस एप्प?

क्या है वोट्सएप्प की नई बिजनेस एप्प?

वोट्सएप्प स्मार्ट फोन धारकों के बीच चैटिंग यानी गपशप करने की एक लोकप्रिय एप्प है. लेकिन यह भी सच है कि केवल गपशप या बधाई संदेशों के साथ वोट्सएप्प का आज व्यवसाय में भी उतना ही उपयोग हो रहा है. वोट्सएप्प ग्राहक और व्यवसायी के मध्य संवाद का एक सरल माध्यम बन गया है. यही वजह है कि वोट्सएप्प का बहु-प्रतीक्षित व्यवसायिक संस्करण भी हाल ही में जारी हुआ है. वोट्सएप्प ने ‘माय शो’ और ‘मेक माय ट्रिप’ के साथ पिछले साल ही भारत में अपने बिजनेस संस्करण के लिए पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया था.

वोट्सएप्प की तरह वोट्सएप्प -बिजनेस एप्प भी बिलकुल निशुल्क है और प्ले-स्टोर से इसे अमेरिका, ब्रिटेन, इंडोनेशिया, इटली, मेक्सिको के उपभोक्ता डाउनलोड कर सकते है. भारत के लिए भी जल्दी ही उपलब्ध हो जाएगा.

वोट्सएप्प ने अपने अधिकृत बयान में कहा है, छोटे और मछौले वेपारीयों के लिए फ्री-डाउनलोड हेतु एंड्राइड की एप्प जारी की जा रही है, जो ग्राहकों से बेहतर संवाद में सहायक होगी. हमारे 1.3 अरब उपयोगकर्ताओं के लिए भी अब व्यवसायों के साथ बातचीत आसान हो जाएगी.

अब निजी उपयोग के लिए और व्यवसायिक उपयोग के लिए दो अलग अलग एप्प हो गई है, और इन्हें एक ही मोबाइल से संचालित किया जा सकता है. यहाँ तक कि बिजनेस संस्करण को लेंडलाइन नंबर से भी कोंफिगर किया जा सकता है. इससे इंटरप्राईज मालिकों के लिए अपने ग्राहकों से त्वरित संवाद करना आसान हो गया है. वहीं उन्हें निजी सन्देश भेजना भी संभव हुआ है.

व्यक्तिगत उपयोग वाली एप्प का आइकन फोन वाला है और ‘बिजनेस’ वाले वोट्सएप्प का आइकोन बड़े ‘बी’ वाला है. वोट्सएप्प बिजनेस में असली वोट्स अप वाले सभी फीचर तो है ही, साथ ही कुछ अलग से विकल्प भी दिए गए है जैसे ग्राहकों से हुए व्यक्तिगत संवादों की सूचि व विश्लेषण. इसके अलावा सन्देश सम्बन्धी अन्य फीचर भी है जैसे जरुरी परिस्थिति में तत्काल जवाब देना, अनुपलब्ध होने पर उसका सन्देश प्रदर्शित करना, स्वचालित जवाब भेजना, संदेशों को ‘स्केड्यूल’ करना और त्योंहारों आदि पर बधाई सन्देश भेजना.

वहीं सामान्य एप्प उपयोगकर्ताओं के लिए अलग से कोई एप्प डाउनलोड करने की जरुरत नहीं है. वे सामान्य एप्प से ही व्यवसायों से संवाद कर सकते है.

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार