Friday, April 19, 2024
spot_img
Homeखबरें - दुनिया भर कीअयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का जश्न अमेरिका में भी मनाया...

अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का जश्न अमेरिका में भी मनाया जाएगा

22 जनवरी को हर अमेरिकी हिंदू परिवार पांच दीए जलाएगा

हिंदुओं के आराध्य भगवान श्री राम के अयोध्या में मंदिर के उद्घाटन को लेकर भारत ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व के हिंदुओं में उत्साह है। इसी क्रम में रविवार को अमेरिका के वॉशिंगटन में आगामी राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का जश्न मनाया गया। वॉशिंगटन के हिंदू रहवासियों ने अयोध्या-वे स्ट्रीट में स्थित श्री अंजनेय मंदिर में एक कार और बाइक रैली का आयोजन किया। रैली के दौरान कारों और बाइकों से भगवा ध्वज फहराए गए।

अमेरिका में रहने वाले हिंदू समुदाय के लोगों ने अगले महीने अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन के अवसर को चिह्नित करने के लिए कई कार्यक्रमों की योजना बनाई है। लोगों ने जश्न मनाने के लिए अपने घरों में पांच दीए जलाने की योजना बनाई है। अमेरिका में मंदिर की खुशी में कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। अलग-अलग शहरों में कार रैलियां निकाली जाएंगी। राममंदिर के उद्घाटन की लाइव स्क्रीनिंग की जाएगी। सामुदायिक सभाएं और वॉच पार्टियां भी आयोजित होंगी।

विश्व हिंदू परिषद ऑफ अमेरिका (VHP) अधिकारी अमिताभ मित्तल ने कहना है कि अयोध्या में दशकों बाद राम मंदिर का उद्घाटन हो रहा है। यह हम सभी के लिए एक सपने के सच होने जैसा है। हमने अपने जीवन में कभी नहीं सोचा था कि हम यह दिन देख पाएंगे। वह क्षण आ गया है। इसलिए हम अमेरिका में भी इस ऐतिहासिक दिन का जश्न मनाएंगे। इस समारोह में एक हजार से अधिक मंदिरों और व्यक्तियों की भागीदारी सुनिश्चित की जा रही है।

उन्होंने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए वेबसाइट भी लॉन्च की गई है। भारतीय तो अद्भुत दिन का लाभ ले सकते हैं, चूंकि वे करीब हैं। लेकिन हम बहुत दूर हैं, इसलिए ऐतिहासिक दिन का हिस्सा बनने के लिए हम अमेरिका में भी कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं। समारोह का सीधा प्रसारण किया जाएगा। हमने अमेरिका में रहने वाले हिंदूओं से आह्वान किया है कि वे प्राण प्रतिष्ठा समारोह का जश्न मनाने के लिए घर में कम से कम पांच दीये जलाएं। अमेरिका के लोगों में तो राम मंदिर के लिए काफी उत्साह है। हिंदू समुदाय बड़ी संख्या में अयोध्या जाना चाहता है।

अमेरिका में रहने वाले हिंदू समुदाय के डॉ. भरत बराई, जिन्हें 22 जनवरी को उद्घाटन समारोह में भाग लेने के लिए मंदिर अधिकारियों द्वारा आमंत्रित किया गया है, ने कहा कि हम सभी के लिए यह सपने के सच होने के जैसा है। हमने कभी नहीं सोचा था कि हम कभी भी यह दिन देख सकते हैं। अब तो जश्न मनाने का समय है। राम मंदिर के लिए अनगिनत लोगों ने संघर्ष किया है। हमारा मन है कि हम जल्द अयोध्या जाएं।

शिकागो से डॉ बरई ने कहा कि बड़ी संख्या में हिंदू अमेरिकियों ने राम जन्मभूमि आंदोलन में भाग लिया था। विश्व हिंदू परिषद ऑफ अमेरिका (वीएचपीए), जो यहां समारोहों का नेतृत्व कर रही है, ने इन समारोहों में 1,000 से अधिक मंदिरों और व्यक्तियों की भागीदारी की सुविधा के लिए एक वेबसाइट लॉन्च की है। वीएचपीए के अमिताभ मित्तल ने बताया कि भारत में सभी पंजीकृत मंदिरों को वास्तविक समारोह से प्रसाद मिलेगा। उन्होंने कहा, अमेरिकी हिंदुओं के लिए समारोह में दूर से भाग लेने और इस ऐतिहासिक कार्यक्रम का हिस्सा बनने की व्यवस्था की गई है।

अमिताभ मित्तल ने कहा कि राम मंदिर उद्घाटन समारोह के सीधे प्रसारण के लिए बड़ी स्क्रीन लगाने की योजना है। वीएचपीए ने सभी हिंदू अमेरिकियों से मंदिर में प्रतिष्ठा समारोह का जश्न मनाने के लिए अपने घरों में कम से कम पांच दीये जलाने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा, हिंदू अमेरिकियों के बीच उत्साह अभूतपूर्व है। बड़ी संख्या में भारतीय अमेरिकी इस ऐतिहासिक समारोह का हिस्सा बनने के लिए अयोध्या जाना चाहते हैं।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार