आप यहाँ है :

इन्वेस्ट समिट कोटा के तहत जिले में 2100 करोड़ रूपये का निवेश हुआ

जिला प्रभारी मंत्री परसादी लाल मीणा ने कहा कि इन्वेस्ट समिट कोटा 2022 के तहत निवेशकों का उत्साह प्रशंसनीय हैं और समिट के दौरान कुल 86 एमओयू व एलओआई हुए हैं जिससे जिले को 2100 करोड़ रूपये का नया निवेश प्राप्त हुआ हैं। इस निवेश और नये उद्यमों के माध्यम से जिले में 13 हजार 500 लोगों को रोजगार भी प्राप्त होगा। कोटा जिला औद्योगिक नगरी के रूप में प्रख्यात रहा हैं और यहां उद्योगों के लिए अपार संभावनाएं मौजूद हैं जिनका उद्यमियों को पूर्ण लाभ लेना चाहिए।

प्रभारी मंत्री गुरूवार को जिला प्रशासन, जिला उद्योग केन्द्र एवं रीको द्वारा आयोजित इन्वेस्ट समिट कोटा 2022 को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में प्रदेश में निवेशकों को विभिन्न उद्यमों के लिए प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए विभिन्न योजनाओं के माध्यम से प्रतिबद्ध होकर कार्य कर रही हैं। उद्योग और निवेश को प्रोत्साहन देने के लिए एमएसएमई एक्ट लेकर आये हैं एवं मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना 2019, राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना 2019 के माध्यम से उद्यमियों को ऋण पर छूट, ब्याज अनुदान, रीको क्षेत्रों में 40 प्रतिशत तक सस्ती दर पर भूमि उपलब्ध करवाई जा रही हैं जिससे प्रदेश में विकास की गति को पंख लगेंगे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा निवेशकों एवं उद्यमियों के लिए वनस्टॉप शॉप योजना प्रारम्भ की गई जिससे उद्यमियों को एनओसी के लिए विभिन्न विभागों के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं हैं और एक ही स्थान पर विभिन्न विभागों द्वारा उद्यमी को समस्त स्वीकृतियां प्रदान की जा रही हैं। इसी क्रम में किसी उद्योग के लिए उद्यमी को पहले तीन वर्ष के लिए स्वीकृतियों के लिए विभागों के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं हैं उसे तीन वर्ष तक उद्यम स्थापित करने के बाद समस्त स्वीकृतियां एक साथ प्रदान कर दी जायेगी।

जिला प्रभारी मंत्री ने कहा कि कोटा में सोयाबीन, चावल व लहसुन की अच्छी पैदावार हैं। कोचिंग के लिए विश्व स्तरीय पहचान हैं साथ ही आधारभूत विकास एवं जल की उपलब्धता क्षेत्र में निवेशकों को नये उद्यम स्थापित करने के लिए सभी आवश्यक मापदंड पूर्ण करती हैं। इस क्षेत्र में मेडिकल, टूरिज्म, सिरेमिक सहित विभिन्न उद्यमों के लिए संभावनाएं मौजूद हैं जिससे क्षेत्र के विकास को बल मिलेगा। इन्वेस्ट समिट कोटा के समारोह को पूर्व यूआईटी अध्यक्ष रविन्द त्यागी, संयुक्त सचिव उद्योग केसर लाल मीणा, उद्यमी गोविंद राम मित्तल, आनन्द माहेश्वरी, विष्णु कुमार साबू, शिव कुमार नामा ने भी सम्बोधित करते हुए कोटा में उद्योगों के लिए संभावनाओं के संबंध में विचार व्यक्त किए।

इन्वेस्ट समिट कोटा 2022 के तहत उद्योग मंत्री शंकुतला रावत ने समारोह को वर्चुअल माध्यम से सम्बोधित करते हुए कहा कि इन्वेस्ट समिट कोटा में निवेशकों का उत्साह क्षेत्र में उद्योगों की स्थापना एवं विकास को गति प्रदान करेगा। कोटा में पानी की प्रचुर मात्रा मौजूद हैं साथ ही यहां सीमेंट सहित विभिन्न उद्योगों के लिए संभावनाएं हैं जिनको इस समिट के माध्यम से गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से उद्यमियों को उद्यम स्थापित करने एवं निवेश के लिए आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

जिला प्रभारी मंत्री ने इन्वेस्ट समिट कोटा के तहत 73 एमओयू एवं 13 एलओआई सहित 86 उद्यमों के लिए निवेश करने वाले उद्यमियों का समिट में साफा, माल्यार्पण कर अभिनन्दन किया।

इन्वेस्ट समिट कोटा के तहत समारोह में जिला कलक्टर उज्ज्वल राठौड़, समाजसेवी अमित धारीवाल, उद्यमी गोविन्द राम मित्तल, निदेशक एलएन नवीन माहेश्वरी, अशोक माहेश्वरी, डॉ. जफर मोहम्मद उपस्थित रहे।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top