आप यहाँ है :

बाबा रामदेव पढ़ाएँगे भी और नौकरी भी देंगे

बाबा रामदेव का नाम देश के ऐसी शख्सियतों में शुमार होता है, जो किसी क्षेत्र विशेष से नहीं हैं। योग सिखाने से शुरुआत करने वाले बाबा रामदेव ने अब ‘पतंजलि’ को एक ब्रांड बना दिया है। टीवी पर योग सिखाने से इतर राजनीति में भी दिलचस्‍पी रखने वाले बाबा रामदेव ने बहुत से कार्यों में ‘पतंजलि’ को उतार रखा है। उन्‍होंने हरिद्वार में बाकायदा एक विश्‍वविद्यालय की स्‍थापना की है। अब बाबा रामदेव ने आने वाले सत्र में उनकी विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए विज्ञापन जारी किया है। विश्वविद्यालय की वेबसाइट के अनुसार, यह ‘परमपूज्‍य स्‍वामी रामदेव और सम्‍माननीय आचार्य बालकृष्‍ण के एक ऐसा उत्‍कृष्‍ट शिक्षा केन्‍द्र स्‍थापित करने के विजन का नतीजा है, जो सभी तरह के ज्ञान और वैज्ञानिक तर्कों का मिला-जुला रूप हो।’

सोमवार को पतंजलि विश्‍वविद्यालय ने कई अखबारों में विज्ञापन दिए। जिसमें विश्‍‍वविद्यालय की ओर से कहा गया, ”वे युवा छात्र जो ग्रेजुएट और पोस्‍ट ग्रेजुएट स्‍तर की उच्‍च शिक्षा हासिल करना चाहते हैं, उनके लिए यह स्‍वर्णिम अवसर है।” विज्ञापन में यह भी कहा गया है कि विश्वविद्यालय भारत और विदेशों में छात्रों को 25,000 से 50,000 रुपए तक के पैकेज पर नौकरी दिलाना भी सुनिश्चित करेगी। फिलहाल विश्वविद्यालय द्वारा योग विज्ञान, संस्‍कृत साहित्‍य में बीए और एमए, योगा थ‍िरैपी में सर्टिफिकेट कोर्स शामिल किए गए हैं।

पतंजलि विश्‍वविद्यालय ने विज्ञापन में उम्‍मीदवारों से विश्‍वविद्यालय में बतौर फैकल्‍टी ज्‍वाइन करने के लिए भी आवेदन आमंत्रित किए हैं। विश्‍वविद्यालय में पढ़ने के लिए 12वीं में न्‍यूनतम 65 प्रतिशत अंक होना जरूरी है। आवेदन की अंतिम तारीख 31 जुलाई तय की गई है।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top