आप यहाँ है :

बीआरओ मोटरसाइकिल अभियान ने 10,000 किलोमीटर पूरे किए

बीआरओ मोटरसाइकिल अभियान [email protected] राष्ट्रीय एकता, राष्ट्र निर्माण और सड़क सुरक्षा जागरूकता का संदेश फैलाते हुए भारत के चारों कोनों की यात्रा कर आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है।
इस अभियान को माननीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने दिनांक 14 अक्टूबर 2021 को दिल्ली से रवाना किया था।

अभियान ने 27 नवंबर, 2021 को कोलकाता पहुंचने के बाद अपना चौथा चरण पूरा कर लिया है और 44 दिनों की नॉन-स्टॉप राइडिंग के बाद 10,000 किलोमीटर से अधिक दूरी कवर की है।
अभियान का अगला चरण ‘कन्याकुमारी’ [email protected] BRO मोटरसाइकिल अभियान ने दिनांक 27 नवंबर को कोलकाता पहुंचने से पहले छह राज्यों से होते हुए 12 दिनों में 3,200 किलोमीटर की दूरी तय करने वाले चौथे चरण को सफलतापूर्वक पूरा किया। यह टीम कोलकाता के पूर्वी तट को छूने से पहले पूर्वोत्तर राज्यों असम, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और मेघालय के पहाड़ी इलाकों से गुजरी। टीम कोलकाता पहुंचने से पहले जोरहाट, दीमापुर, इंफाल, सिलचर, आइजोल, शिलांग, अलीपुरद्वार और मालदा शहरों से गुज़री।

इस अभियान को 14 अक्टूबर 2021 को रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह द्वारा नई दिल्ली से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया था, यह अभियान हिमाचल, लेह और लद्दाख, जम्मू एवं कश्मीर के उच्च ऊंचाई और बर्फ से ढके क्षेत्रों से होकर गुजरा। दूसरे चरण में यह सिलीगुड़ी में चरण समाप्त करने से पहले पंजाब के मैदानी इलाकों, उत्तराखंड की पहाड़ियों और उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल के सिंधु-गंगा के मैदानों से होकर गुजरा। तीसरे चरण में, अभियान नाथू ला, गंगटोक, कलिम्पोंग, हाशिमारा, गुवाहाटी, तेजपुर, ईटानगर, पासीघाट से होते हुए कोलकाता के लिए जाने से पहले असम के डूम डूमा के पूर्वी शहर में पहुंचा।

इस चरण के दौरान अभियान दल ने प्रेरक व्याख्यान आयोजित किए और यह दल जोरहाट, दीमापुर, इंफाल, सिलचर आइजोल, शिलांग, अलीपुरद्वार, मालदा और कोलकाता में युवा और ऊर्जावान स्कूली बच्चों, कॉलेज के छात्रों और एनसीसी कैडेट्स से जुड़ा। दल ने युवाओं के साथ गहन चर्चा भी की कि वे राष्ट्र निर्माण में कैसे अपना योगदान दे सकते हैं। यह टीम बीआरओ और भारतीय सेना में शामिल होने और देश की सेवा करने पर युवाओं की रुचि और प्रश्नों से रोमांचित थी। अभियान की टीम अपने मार्ग में सभी आयु वाले समूहों के साथ लगभग हर दिन कई प्रश्नोत्तरी और आउटरीच कार्यक्रम आयोजित करके सड़क सुरक्षा जागरूकता के संदेश को फैला पाई। टीम ने स्थानीय लोगों के साथ बातचीत की, अनाथालयों और वृद्धाश्रमों का दौरा किया और विभिन्न स्थानों पर पूर्व सैनिकों से मिल कर काफी समय बिताया।

टीम का हर उस स्थान पर गर्मजोशी से स्वागत किया गया जहां का उन्होंने दौरा किया। उन्होंने पूर्व अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाज और राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार विजेता श्रीमती सरिता देवी और भारतीय मुक्केबाजी कोच और द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता श्री एल इबोम्चा सिंह के साथ बातचीत की। उन्हें राज्य के प्रमुख गणमान्य व्यक्तियों जैसे मणिपुर के माननीय राज्यपाल श्री एलए गणेशन ने झंडी दिखाकर रवाना किया, उन्होंने अभियान दल के साथ बातचीत की और पूर्वोत्तर में सड़क के बुनियादी ढांचे के विकास के लिए बीआरओ की सराहना की। मिजोरम के खेल और युवा सेवा मंत्री श्री पु रॉबर्ट रोमाविया रॉयटे ने स्वयं अपनी मोटरसाइकिल चलाकर अभियान में भाग लिया और आइजोल के बाहरी इलाके में टीम को रवाना किया।

इंडिया@75 बीआरओ मोटरसाइकिल अभियान अब तक 10,000 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय कर चुका है और अपनी यात्रा के लगभग बीच में है। टीम के सदस्यों ने अविस्मरणीय यादें, आजीवन मैत्री के बंधन बनाए हैं, जनता के बीच गहरी रुचि पैदा की है और नागरिकों के बीच सड़क सुरक्षा जागरूकता को प्रेरित करने का अहम कार्य किया है। यह अभियान अब भारत के सबसे दक्षिणी छोर कन्याकुमारी में अपने अगले गंतव्य की ओर बढ़ेगा।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top