आप यहाँ है :

राजस्थान में अब सी फॉर कैट नहीं सी फॉर कॉउ

जयपुर: राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने स्कूली किताबों में ‘सी फॉर कैट’ की जगह अब ‘सी ऑफ काउ’ पढ़ाने का फैसला किया है. स्कूली पाठ्यक्रम में बदलाव करते हुए वसुंधरा सरकार ने उच्च प्राथमिक स्कूली किताबों में गाय को माता के रूप में प्रस्तुत किया है.

नए स्कूली पाठ्यक्रम में कक्षा पांच की हिंदी पुस्तक में हिंदू देवताओं पर एक पाठ है. इसमें ‘गाय’ की एक बड़ी तस्वीर के साथ ‘गाय’ को माता के रूप में दर्शाया गया है. ‘गाय’ छात्रों को संबोधित करते हुए कहती है ‘मेरे बेटों और बेटियों’ इसी पाठ में मां के रूप में गाय कहती है ‘जो मुझे महसूस करता है में उन सभी लोगों को शक्ति, समझ, स्वास्थ्य, लंबी उम्र, सुख और समृद्धि प्रदान करती हूं.’

कक्षा आठ की संस्कृत की किताब रंजिनी में ‘धेनु महिमा’ शीर्षक से ‘गाय’ पर विशेष पाठ है जिसमें ‘गाय’ का महत्व बताया गया है. इस पाठ में बताया गया है कि गाय से इंसान को और क्या-क्या फायदे हो सकते हैं.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top