ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

संभागीय आयुक्त एवं आईजी ने ली रीट परीक्षा की तैयारियों की समीक्षा बैठक

कोटा। संभागीय आयुक्त कैलाश चंद मीणा ने कहा कि रीट की परीक्षा में अन्य जिलों से आने वाले परीक्षार्थियों को आवागमन, ठहराव की समस्या नहीं रहे। परीक्षा प्रश्नपत्र दोनों पारियों में पूरी सुरक्षा के साथ वितरण करते हुए प्रत्येक परीक्षा केन्द्र की वीडियोग्राफी कराना भी सुनिश्चित करें।

संभागीय आयुक्त बुधवार को राजीव गांधी सेवा केन्द्र में वीसी के माध्यम से संभाग में रीट परीक्षा की तैयारियों की जिलेवार समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि परीक्षा आयोजन 26 सितम्बर से पहले ही परीक्षार्थी जिलों में आना शुरू हो जायेंगे। उन्हें आवागमन से लेकर ठहराव की समस्या नहीं रहे इसके लिए संख्या के आधार पर सभी व्यवस्थाऐं समय पर पूरी करें। उन्होंने सामाजिक संगठनों, भामाशाहों को भी इस कार्य में मदद के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्धारित किए गए सभी परीक्षा केन्द्रों का सभी उपखण्ड अधिकारी 24 सितम्बर तक भौतिक सत्यापन कर पेयजल, रोशनी एवं सुरक्षात्मक दृष्टि से आवश्यक प्रबन्धों की रिपोर्ट भिजवायें। उन्होंने परीक्षा प्रश्नपत्र एवं ओएमआर शीट को कोष कार्यालयों से संबंधित परीक्षा केन्द्रों तक पहुंचाने से लेकर वितरण तक सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रखने तथा प्रत्येक केन्द्र पर सरकार के निर्देशों की पालना करते हुए वीडियोग्राफी कराने के निर्देश दिए।

उन्होंने केन्द्र अधीक्षकों एवं वीक्षकों की बैठक लेकर राज्य सरकार के निर्देशों की जानकारी देने व पारदर्शिता के साथ कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी जिलों में वाहनों की आवश्यकता का आंकलन कर एक-दूसरे जिले में संवाद बनाये रखकर आवश्यकतानुसार टीम भावना के साथ कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने चिकित्सा विभाग को 25 व 26 सितम्बर को सभी स्वास्थ्य केन्द्रों को खुला रखकर परीक्षा केन्द्रों पर कोविड-19 से बचाव की सामग्री का प्रदर्शन व वितरण करने के निर्देश दिए।

पुलिस महानिरीक्षक कोटा रेंज रविदत्त गौड़ ने कहा कि परीक्षा आयोजन के समय सुरक्षात्मक दृष्टि से सभी प्रबन्धों को बेहतर रूप से समय पर पूरा करें। उन्होंने परीक्षार्थियों के आवागमन को सुगम बनाये रखने के लिए निर्धारित बस स्टेण्डों के अतिरिक्त अस्थाई बस स्टेण्डों पर भी पूरी व्यवस्थाऐं समय पर करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि परीक्षार्थी बसों की छतों पर नहीं बैठें, इसके लिए उन्हें प्रेरित करने के साथ समय पर पर्याप्त वाहन मय सूचनाओं के तैयार रखें। परीक्षा केन्द्रों पर वाहनों के आवागमन की जानकारी भी प्रदर्शित करें, वाहनों द्वारा मनमाना किराया वसूल नहीं किया जायें इसकी भी निगरानी रखें। उन्होंने परीक्षा केन्द्रों पर निर्देशों के पालना के लिए एक-एक महिला कानिस्टेबल व अन्य विभागों की महिला कार्मिक को भी नियुक्त करने का सुझाव दिया।

रेलवे की ओर से सीनियर डीसीएम अजय कुमार पाल ने कहा कि रेलवे प्रशासन 25 व 26 सितम्बर को परीक्षार्थियों के लिए विशेष ट्रेन संचालित करने के साथ वर्तमान में संचालित ट्रेनों में अतिरिक्त कोच भी लगायेगा। उन्होंने बताया कि कोटा-जयपुर, झालावाड़-जयपुर, छबड़ा-कोटा-भीलवाड़ा-अजमेर के लिए भी विशेष ट्रेन चलाई जायेंगी। कोटा-हिसार, कोटा-झालावाड़ ट्रेन में अतिरिक्त कोच जोड़े जायेंगे। उन्होंने जिलों की मांग के अनुसार ट्रेन संचालन का पूरा कार्यक्रम बनाकर जारी करने की बात कही।

जिला कलक्टर उज्ज्वल राठौड़ ने बताया कि जिले में 142 परीक्षा केन्द्र हैं। जिले के बाहर से आने वाले परीक्षार्थियों के लिए अलग-अलग स्थानों पर ठहराव की व्यवस्था की है। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शरद चौधरी ने सुरक्षात्मक व्यवस्थाओं की जानकारी दी। अतिरिक्त संभागीय आयुक्त अनुराग भार्गव ने संभागवार परीक्षार्थियों के डाटा के अनुसार तैयारियां पूरी करने एवं विस्तृत कार्ययोजना बनाकर कार्य करने की बात कही। क्षैत्रीय परिवहन अधिकारी कुसुम राठौड़ ने वाहनों की उपलब्धता के बारे में जिलेवार प्लान के बारे में बताया।

जिलेवार तैयारियों की जानकारी देते हुए झालावाड़ कलक्टर हरिमोहन मीणा ने बताया कि 88 परीक्षा केन्द्रों पर 46 हजार 559 परीक्षार्थियों का नामांकित है। बारां कलक्टर राजेन्द्र विजय ने बताया कि 40 परीक्षा केन्द्रों पर 12 हजार 984 परीक्षार्थी नामांकित हैं। बून्दी अतिरिक्त कलक्टर एयू खान ने 104 परीक्षा केन्द्रों पर 25 हजार 122 परीक्षार्थी नामांकित हैं। वीसी में संभाग के सभी पुलिस अधीक्षकगण, जिला परिवहन अधिकारी, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top