Saturday, March 2, 2024
spot_img
Homeविशेषडॉ. गजे सिंह राजपुरोहित को गौरीशंकर कमलेश राजस्थानी भाषा पुरस्कार और संतोष...

डॉ. गजे सिंह राजपुरोहित को गौरीशंकर कमलेश राजस्थानी भाषा पुरस्कार और संतोष चौधरी को कमला कमलेश पुरस्कार

कोटा / वर्ष 2022 के स्व. गौरीशंकर कमलेश राजस्थानी भाषा पुरस्कार और कमला कमलेश स्मृति पुरस्कार की घोषणा ज्ञान गीत भारती संस्था कोटा के सचिव एडवोकेट सुरेन्द्र शर्मा द्वारा कर दी गई है। 29 वां गौरी शंकर कमलेश राजस्थानी भाषा पुरस्कार जोधपुर के राजस्थानी साहित्यकार डॉ. गजे सिंह राजपुरोहित को उनकी कृति”राजस्थानी साहित्य री सोरम” के लिए प्रदान किया जाएगा। पहला कमला कमलेश राजस्थानी भाषा पुरस्कार जोधपुर की ही कथा नवांतर लेखिका संतोष चौधरी को उनकी कृति”काया री कळझळ” के लिए दिया जाएगा।

कार्यक्रम संयोजक नहुष व्यास ने बताया कि जितेन्द्र निर्मोही एवं ज्ञान भारती संस्था कोटा की कमेटी के इस निर्णय उपरांत 29 वें गौरीशंकर कमलेश राजस्थानी भाषा साहित्य पुरस्कार एवं सम्मान समारोह 20 नवंबर को प्रातः 10 बजे ज्ञान भारती स्कूल नई बिल्डिंग कोटा ‌‌में आयोजित किया जाएगा। समारोह के मुख्य अतिथि केन्द्रीय अकादमी नई दिल्ली से पुरस्कृत वरिष्ठ साहित्यकार अम्बिका दत्त होंग। आयोजन की अध्यक्षता सूचना एवं जन सम्पर्क राजस्थान सरकार के पूर्व संयुक्त निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंघल करेंगे।

जितेंद्र निर्मोही ने बताया कि स्व. गौरीशंकर कमलेश राजस्थानी भाषा पुरस्कार अंतर्गत चयनित साहित्यकार को ग्यारह हजार रुपए राशि नकद , सम्मान पत्र,शाल श्रीफल से सम्मानित किया जाएगा। कमला कमलेश पुरस्कार हेतु राशि पांच हजार रुपए से समादृत किया जाएगा।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार