Sunday, May 26, 2024
spot_img
Homeपुस्तक चर्चाभारत का एतिहासिक झूठ

भारत का एतिहासिक झूठ

लगातार एतिहासिक झूठ फैला कर हिंदूओ को मूर्ख बनाया जा रहा है। आर्यों को विदेशी और आक्रान्ता बताया जा रहा है। अकबर को महान बताया जा रहा है। इस तरह के फैलाए गए झूठ और छिपाए गए सच को जाने।

भारतीय इतिहास की भयंकर भूलें की विषयसूची- ऐतिहासिक अन्वेषण की प्रेरणा भारतीय स्मारकों का निर्माण-श्रेय विदेशी मुस्लिमों को दिया गया अपकृष्ट अकबर को उत्कृष्ट मानते हैं. मध्यकालीन तिथिवृत्तों में अनावश्यक विश्वास स्थापत्य का भारतीय-जिहादी सिद्धान्त भ्रम-मात्र है. मुग़ल चित्रकला की भ्रान्ति मध्यकालीन मुस्लिम-दरबारों में संगीतोन्नति की भ्रान्ति, मुग़ल उद्यान-कला की भ्रान्ति, विदेशियों की शासनकालावधि में स्वर्ण युगों की भ्रान्ति,
सिकन्दर की पराजय जो वीर पोरस पर उसकी महान् विजय कहलाती है. आदि-शंकराचार्य जी का काल १२६७ वर्ष कम अनुमानित भगवान् बुद्ध के काल में १३०० वर्षों की भूल भगवान् श्री राम और श्रीकृष्ण के युगों की प्राचीनता कम अनुमानित तथाकथित ‘आर्य जाति’–संज्ञा भारी भूल करने वाले पश्चिमी इतिहासकारों की कल्पना सृष्टि है. वेदों की प्राचीनता अत्यन्त कम आँकी गयी है

भारतीय इतिहास की भयंकर भूलें ₹200
कौन कहता है अकबर महान था ₹250
मंगवाने के लिए 7015591564 पर वट्सएप करें।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार