आप यहाँ है :

भारत का एतिहासिक झूठ

लगातार एतिहासिक झूठ फैला कर हिंदूओ को मूर्ख बनाया जा रहा है। आर्यों को विदेशी और आक्रान्ता बताया जा रहा है। अकबर को महान बताया जा रहा है। इस तरह के फैलाए गए झूठ और छिपाए गए सच को जाने।

भारतीय इतिहास की भयंकर भूलें की विषयसूची- ऐतिहासिक अन्वेषण की प्रेरणा भारतीय स्मारकों का निर्माण-श्रेय विदेशी मुस्लिमों को दिया गया अपकृष्ट अकबर को उत्कृष्ट मानते हैं. मध्यकालीन तिथिवृत्तों में अनावश्यक विश्वास स्थापत्य का भारतीय-जिहादी सिद्धान्त भ्रम-मात्र है. मुग़ल चित्रकला की भ्रान्ति मध्यकालीन मुस्लिम-दरबारों में संगीतोन्नति की भ्रान्ति, मुग़ल उद्यान-कला की भ्रान्ति, विदेशियों की शासनकालावधि में स्वर्ण युगों की भ्रान्ति,
सिकन्दर की पराजय जो वीर पोरस पर उसकी महान् विजय कहलाती है. आदि-शंकराचार्य जी का काल १२६७ वर्ष कम अनुमानित भगवान् बुद्ध के काल में १३०० वर्षों की भूल भगवान् श्री राम और श्रीकृष्ण के युगों की प्राचीनता कम अनुमानित तथाकथित ‘आर्य जाति’–संज्ञा भारी भूल करने वाले पश्चिमी इतिहासकारों की कल्पना सृष्टि है. वेदों की प्राचीनता अत्यन्त कम आँकी गयी है

भारतीय इतिहास की भयंकर भूलें ₹200
कौन कहता है अकबर महान था ₹250
मंगवाने के लिए 7015591564 पर वट्सएप करें।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Get in Touch

Back to Top