Monday, May 20, 2024
spot_img
Homeपुस्तक चर्चाभारतवर्ष का इतिहास (3 भागों मे)

भारतवर्ष का इतिहास (3 भागों मे)

आचार्य रामदेव ( गुरुकुल काँगड़ी के पूर्व मुख्याधिष्ठाता) द्वारा लिखित भारत वर्ष का इतिहास ।

प्रायः यह प्रश्न किया जाता है कि उपलब्ध सामग्री के आधार पर भारत का इतिहास नहीं लिखा जा सकता और जो इतिहास है वह राजाओं का इतिहास है न कि जन साधारण का।
इस पुस्तक मे दिखाया गया है कि उपलब्ध सामग्री के आधार पर न केवल इतिहास लिखा जा सकता है अपितु राजा और प्रजा दोनों का विवरण बताया जा सकता है।
लेखक स्वामी श्राद्धनन्द के बाद गुरुकुल काँगड़ी के संचालक रहे थे। भारतीय शास्त्रों का विशाल अध्ययन इनके लेखन मे झलकता है।

पहले खण्ड मे वैदिक काल के विषय मे लिखा गया है। दूसरे मे महाभारत से बौद्ध काल तक और तीसरे मे बौद्ध से वर्तमान तक लिखा है।

कुल पृष्ठ 1100
पुस्तक मूल्य ₹1200+₹50 पैकिंग व डाक खर्च
प्राप्ति के लिए Whatsapp करें 7015591564
Cash on Delivery सुविधा उपलब्ध नहीं है.
पहले मूल्य (₹1250) प्राप्त होने पर ही पुस्तक भेजी जाएगी

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार