Saturday, July 20, 2024
spot_img
Homeविशेषहिन्दी दिवस समारोह मे , काव्य पाठ , हिन्दी सेवियों का सम्मान...

हिन्दी दिवस समारोह मे , काव्य पाठ , हिन्दी सेवियों का सम्मान वही विभिन प्रतोगिताओं के विजेताओ को प्रशस्ति पत्र

कोटा। 14 सितम्‍बर, 2023 को हिंदी दिवस के उपलक्ष्‍य में राजकीय सार्वजनिक मण्‍डल पुस्‍तकालय, कोटा एवं अंतराष्ट्रीय महिला काव्य मंच के डॉ एस.आर. रंगानाथन सभागार में सम्‍भाग स्‍तरीय राजभाषा हिंदी दिवस समारोह – 2023 का आयोजन किया गया | कार्यक्रम की अध्यक्षता स्नेहलता शर्मा प्रदेश सचिव अंतराष्ट्रीय महिला काव्य मंच , मुख्य अतिथि तरुण मेहरा उप वन संरक्षक कोटा, विशिष्ट अतिथि मेघना मेहरा कवयित्री एवं डॉ रीता गुप्ता अध्यक्ष अंतराष्ट्रीय महिला काव्य मंच इकाई कोटा ,बीज भाषण वक्ता डॉ. अनिता वर्मा आचार्य (हिंदी) राजकीय कला महाविधालय कोटा एवं राम शर्मा “कापरेन”कवि लेखक एवं अभिनेता तथा उदघोषक महेश पंचोली कवि एवं साहित्यकार ने की | इस अवसर पर सभी पधारे अतिथियों को पुस्‍तकालय के द्वार पर कुंकुम तिलक लगा कर स्‍वागत किया गया| इस समारोह मे बीज भाषण का मुख्य केंद्रीय विषय “वैश्विक परिदृश्य मे हिंदी” रहा | सरस्वती वंदना का वाचन ज्योति शर्मा एवं साधना शर्मा ने किया |

उद्घाटन भाषण मे डॉ दीपक कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि – हिन्दी को अनिवार्य रूप से राजकाज की भाषा बनाने के लिए कुछ कठोर नियम बनाए जाने की आवश्यकता हे |

डॉ अनीता वर्मा ने अपने बीज भाषण उदबोधन मे कहा की “हिन्दी भाषा हमारी संस्कृति की संवाहक और विरासत हे | हिन्दी भाषा की विकास यात्रा अत्यंत समृद्ध रही है | आजादी के आंदोलन मे हिन्दी भाषा व साहित्यकारों ने अपनी महत्ववपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया है | आज हिंदी पुष्पित एवं पल्लवित होकर वैश्विक परिदृश्य पर संयोजक की भूमिका निभा रही है | तकनीक के पंखो पर सवार होकर हिन्दी फलफूल रही है सबके हृदय मे स्थान बना रही है |

राम शर्मा “कापरेन”ने कहा- लगभग एक हजार वर्ष का इतिहास जिस भाषा का है वह आज अपने पंखो को अनेक सीमाओं से परे फैला चुकी है | भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति की संवाहक एक मात्र भाषा हिन्दी ही है| जन-जन की सरसता की पोषक हिन्दी आज गर्व के साथ वैश्विक पटल पर स्थापित है | नवीन प्रकल्पों, सबन्धों एवं उदभावनाओ को हिन्दी अपनी आगोश मे समेटे हुए है मुख्य अतिथि तरुण मेहरा ने कहा कि हम हिन्दी को और भी वृहद स्तर पर ले जाने के लिए अङ्ग्रेजी की प्रचलित भाषा के शब्दों को हिन्दी मे लिखकर हिन्दी संयोजन के साथ प्रयोग मे लेगेंगे तो यह विज्ञान एवं तकनीक की भाषा , व्यापार की भाषा के रूप मे स्थापित हो पायेगी | विशिष्ट अतिथि मेघना नेकहा कि – हिन्दी के प्रचार प्रसार के लिए माताओ को अपने बच्चों को प्रारंभिक काल मे ही अधिक से अधिक हिन्दी मे संवाद कर उसकी श्रेष्ठता एवं भव्यता से रूबरू कराणा चाहिए |

इस अवसर पर कवयित्री ज्योति शर्मा , प्रार्थना भारती, डॉ. मधु सनाढ्य, डॉ. वैदेही गौतम, डॉ.शशि जैन, अल्पना गर्ग, रीता गुप्ता, साधना शर्मा,स्नेहलता शर्मा, यशोदा शर्मा, महेश पंचोली ने काव्य पाठ किया |

सम्मानित होने वालो मे सुमनलता शर्मा, डॉ अनिता वर्मा, प्रार्थना भारती, ज्योति शर्मा, डॉ. मधु सनाढ्य, डॉ. वैदेही गौतम, डॉ.शशि जैन, अल्पना गर्ग, रीता गुप्ता, साधना शर्मा,स्नेहलता शर्मा, यशोदा शर्मा, महेश पंचोली, मेघना मेहरा, डॉ निशा गुप्ता, डॉ सुशीला जोशी, रेणु सिंह “राधे”| डॉ. नन्द किशोर महावर साहित्यकार एवं किशन प्रणय शामिल | हुकुम चन्द्र राठोर , विजय जैन एवं जितेंद्र गौत्तम शामिल |

राम शर्मा “कापरेन”कवि लेखक एवं अभिनेता को “हिन्दी रंग साहित्य सृजन सम्‍मान-2023” एवं डॉ. इसिका चिक्का नाईजीरीया को “हिन्दी नवसाक्षर सम्‍मान-पत्र-2023” से सम्मान प्रदान किया गया।

इस अवसर पर आयोजित विभिन प्रतियोगिताओ मे से कम्‍प्‍यूटर अनुप्रयोग प्रतियोगिता मे योगेन्‍द्र सिंह तँवर को प्रथम एवं आर्यन श्रीवास्तव को द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया | इसी प्रकार श्रुति लेख (लेख) प्रतियोगिता मे अंजु सिंह प्रथम, भूपेंद्र सिंह झाला द्वितीय, विक्रम यादव तृतीय, राकेश मीणा, गणेश सैनी एवं नीरज कुमार अहीर को सांत्वना तथा निबन्‍ध लेखन प्रतियोगिता मे बरखा प्रथम, रणवीर सिंह हाड़ा, द्वितीय , दीपक नामदेव तृतीय, शिव प्रताप सिंह, अभिषेक धाकड़ एवम मधु मण्डल को सांत्‍वना पुरस्कार से सम्मानित किया|

इस अवसर आयोजित सुलेख लेखन प्रतियोगिता प्रवीण वेदी प्रथम, योगेंद्र सिंह सोनगरा द्वितीय, लक्ष्मी जंगम तृतीय, कुशल सोनी , मीना सोनगरा एवं जितेंद्र कटारिया को सांत्‍वना पुरस्कार दिया गया। वाद –विवाद प्रतियोगिता मे पायल बैरवा प्रथम, सतीश मीणा द्वितीय, जितेंद्र मीणा तृतीय , सुकन्या शृंगी एवं मेघा हाड़ा को सांत्‍वना पुरस्कार प्रदान किया।

Dr. D. K. Shrivastava
INELI South Asia Mentor
IFLA WALL OF FAME ACHIEVER
Divisional Librarian and Head
Govt. Divisional Public Library Kota (Rajasthan)-324009
[email protected]
Cell No.+91 96947 83261

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार