आप यहाँ है :

शिक्षा के भारतीयकरण पर 11 फरवरी से संघ की अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी

राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ की शैक्षणिक शाखा भारतीय शिक्षण मंडल नागपुर में अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन कराने जा रहा है। इसका मकसद देश के भीतर की जा रही शोध में ‘भारतीय’ नजरिया को बढ़ावा देना है। तीन दिन चलने वाला यह कार्यक्रम 11 फरवरी से शुरू होगा। यह आयोजन आरएसएस के उस कार्यक्रम के ठीक बाद शुरू करने जा रहा है, जिसके तहत बेसिक एजुकेशन का ‘भारतीयकरण’ करने की बात कही जा रही है।

इस संगोष्ठी में भारतीय शिक्षा परंपरा, आर्किटेक्‍चर, पर्यावरण और मानवता जैसे मुद्दों पर दस्‍तावेज पेश किए जाएंगे। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, मानव संसाधन मंत्री स्‍मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर और महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के मौजूद रहने की उम्‍मीद है। देश के विभिन्न शिक्षण संस्थानों और विश्वविद्यालयों में होने वाले शोध और अनुसंधान मौलिक, व्यावहारिक, राष्ट्रहित और समाज के लिए उपयोगी होने चाहिए। इस पर विचार के लिए सम्मेलन आयोजित किया गया है।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top