आप यहाँ है :

कश्मीरी पंडितों का अपमान करने के बाद उनके नाम फिल्म समर्पित कर दी

"हैदर" के लिए पांच राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार हासिल करने वाले निर्माता-निर्देशक विशाल भारद्वाज ने इन्हें कश्मीरी पंडितों को समर्पित करने की घोषणा की है। हालांकि, उनकी इस घोषणा पर विवाद हो गया है। वरिष्ठ अभिनेता अनुपम खेर और फिल्म प्रमाणन बोर्ड के सदस्य अशोक पंडित ने विशाल की मंशा पर सवाल उठाया है।

अनुपम खेर ने इसे कश्मीरी पंडितों के साथ धोखाधड़ी करार दिया है। उन्होंने कहा कि विशाल को राष्ट्रीय पुरस्कार जीतने के लिए मैं बधाई देता हूं, लेकिन उन पुरस्कारों को कश्मीरी पंडितों के नरसंहार को समर्पित करना धोखाधड़ी है। उन्होंने पूछा कि कश्मीरी पंडितों के पलायन पर विशाल ने कब सवाल उठाया था? दरअसल, हमारे मंदिर में शैतानी नृत्य कर वे हमें अपमानित कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि "हैदर" विलियम शेक्सपीयर के नाटक "हैमलेट" का फिल्मी रूपांतरण है। इसे कश्मीरी आतंकवाद की पृष्ठभूमि में फिल्माया गया है। निर्माता-निर्देशक विशाल भारद्वाज पर फिल्म में इस समस्या का एक ही पक्ष दिखाने का आरोप है। इसको लेकर विशाल का कहना है कि कश्मीरी पंडितों की समस्या बहुत बड़ी है। इसे कुछ दृश्यों में नहीं समेटा जा सकता। इस मसले पर एक पूरी की पूरी फिल्म ही बनाई जानी चाहिए। इसलिए मैंने अपने सभी राष्ट्रीय पुरस्कार कश्मीरी पंडितों को समर्पित करने का फैसला किया है।

.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top