Sunday, May 26, 2024
spot_img
Homeदुनिया भर कीकिडनी ट्रांसप्लांट यूनिट की सुविधा अब कोटा में

किडनी ट्रांसप्लांट यूनिट की सुविधा अब कोटा में

कोटा के मेडिकल कॉलेज में अब किडनी ट्रांसप्लांट। सुविधा उपलब्ध होने से किडनी रोगियों को कोटा से बाहर नहीं जाना पड़ेगा। करीब 800 लाख से निर्मित इस सुविधा सहित 525 लाख रूपये से नवनिर्मित एमडीआरयू लेब, सुपर स्पेश्यलिटी चिकित्सालय में 115.94 लाख की लागत से निर्मित ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट, 99.75 लाख रूपये लागत की 3 जीवन रक्षक उपकरण युक्त एम्बूलेंस एवं जेके लोन अस्पताल में 65 लाख रूपये की लागत से नवस्थापित 4-डी कलर डॉप्लर सोनोग्राफी मशीन का शनिवार को चिकित्सा एवं जनसम्पर्क मंत्री डॉ. रघु शर्मा और स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने विधिवत लोकार्पण किया।

स्वायत शासन मंत्री धारीवाल ने बताया कि कोटा में पिछले 2 सालों में चिकित्सा क्षेत्र में 350 करोड़ के कार्य कराए गए हैं। कुन्हाड़ी में 50 करोड़ से जिला चिकित्सालय बनाया जा रहा है। स्मार्ट सिटी परियोजना में एमबीएस अस्पताल में 120 करोड़ रूपये की लागत से नवीन ब्लॉक निर्माण का कार्य चल रहा है तथा 60 करोड़ की लागत के नवीन कार्य स्वीकृत कर दिये गए है जिसमें 80 कॉटेज वार्ड व 60 आईसीयू वार्ड भी बनेंगे। उन्होंने कहा कि कोटा में आम नागरिकों की मूलभूत सुविधाओं के लिए बजट की कमी नहीं रहेगी। मेडिकल कॉलेज से लेकर दूर-दराज के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तक ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट एवं आवश्यक उपकरणों की स्थापना का कार्य किया गया है।

चिकित्सा मंत्री ने बताया प्रदेश में आज 70 स्थानों पर एक लाख 75 हजार आरटीपीसीआर जांच की क्षमता विकसित की जा चुकी है। कोरोना की रिकवरी दर में देश में अग्रणी स्थान पर है, मृत्यु दर सबसे कम है। उन्होंने कहा कि मेडिकल ऑक्सीजन के क्षेत्र में राजस्थान आत्मनिर्भर बनने जा रहा है। 400 स्थानों पर ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट स्थापित करने का कार्य प्रगति पर है। 50 हजार ऑक्सीजन कंसनट्रेटर की खरीद भी की गई है। उन्होंने बताया कि कोटा के जेकेलोन अस्पताल में नवीन नीकु वार्ड आधुनिक सुविधायुक्त है, प्रगतिरत् कार्य पूरा होने पर नीकु में 258 बेड की क्षमता तथा पीकु में 263 बेड की क्षमता हो जायेगी तथा आईसीयू के भी 300 बेड हो जायेंगे। उन्होेंने कहा कि एमबीएस व जेकेलोन नवीन ब्लॉक का निर्माण चल रहा है, इनके लिए 8 करोड़ रूपये की लागत के उपकरण भी प्राप्त हो गये है जो शीघ्र शुरू कर दिये जायेंगे।

मंत्रियों ने चिकित्सा क्षेत्र में कोटा में हुई प्रगति तथा नवीन विकास कार्यों व कोरोनाकाल में की गई व्यवस्था एवं संभावित तीसरी लहर की तैयारियों की प्रजेन्टेशन देखा और समीक्षा कर कार्यों का अवलोकन भी किया। प्राचार्य मेडिलक कॉलेज डॉ. विजय सरदाना ने मेडिकल कॉलेज से संबंधित तथा सीएमएचओ डॉ. भूपेन्द्र सिंह तंवर ने ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधाओं से संबंधित जानकारी दी। इस अवसर पर शासन सचिव चिकित्सा शिक्षा वैभव गालरिया, एमडी एनआरएचएम सुधीर कुमार शर्मा सहित मेडिकल कॉलेज के सभी विभागाध्यक्ष एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे। जनप्रतिनिधियों में महापौर कोटा उत्तर मंजू मेहरा, दक्षिण राजीव अग्रवाल, यूआईटी के पूर्व अध्यक्ष रविन्द्र त्यागी, पंकज मेहता, सहित स्थानीय जनप्रतिनिधिगण उपस्थित रहे।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार