आप यहाँ है :

मंत्रोच्चार के साथ फीता काटकर विधिवत ब्लड सेंटर का शुभारंभ

कोटा में यज्ञ कर आरोग्य नगर मेडिकल कॉलेज के सामने आरोग्य ब्लड सेंटर का शुभारंभ किया गया। ब्लड बैंक के डायरेक्टर डॉ. वेद प्रकाश गुप्ता ने बताया कि हाड़ौती संभाग में एस के मेमोरियल ट्रस्ट के माध्यम से संचालित यह चौथा ब्लड बैंक है। उन्होंने बताया कि तलवंडी में कृष्णा रोटरी ब्लड बैंक, झालावाड़ में रूधिरा ब्लड बैंक, भवानी मंडी में रक्तिमा ब्लड बैंक कार्यरत है। इस अवसर पर आर्य प्रतिनिधि सभा कोटा संभाग के प्रधान अर्जुन देव चड्डा के सानिध्य में महिला मंत्री सुशीला कुर्मी व उमेश कुर्मी के पुरोहित में यज्ञ किया गया।

यज्ञ में मुख्य यजमान डॉ. वेद प्रकाश गुप्ता, डॉ. सरोज गुप्ता, डॉ. एस के गोयल व मंजू कासलीवाल तथा डॉ. सौरभ गुप्ता, डॉ. मनीष गर्ग, डॉ. विनीता गर्ग, महावीर प्रसाद गुप्ता, रामेश्वर गुप्ता, सूरज प्रकाश गुप्ता, आर्य समाज के युवा किशन आर्य हरियाणा, दीपक कुमार, विमलेश आर्य आदि उपस्थित थे। डॉ एसके गोयल मंजू कासलीवाल, डॉ. वेद प्रकाश गुप्ता ने मंत्रोच्चार के साथ फीता काटकर विधिवत ब्लड सेंटर का शुभारंभ किया। इस अवसर पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुभकामनाएं देते हुए कहा कि रक्तदान जीवनदान है, वहीं नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल, जिला रामगंजमंडी विधायक मदन दिलावर, कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा, कलेक्टर उज्जवल राठौर व मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. विजय सरदाना ने भी शुभकामनाएं प्रेषित की।

आर्य समाज की शीर्ष संस्था सर्व देशिक आर्य प्रतिनिधि सभा के प्रधान सुरेश चंद्र आर्य ने शुभकामनाएं देते हुए अपने संदेश में कहा कि कोरोना काल के ब्लड, प्लाज्मा की आवश्यकता बढ़ी है, ऐसे समय में कोटा संभाग में ब्लड बैंक का शुभारंभ अनुकरणीय कार्य किया है। दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा के महामंत्री विनय आर्य ने अपने संदेश में कहा कि रक्तदान सेवा का एक ऐसा कार्य है जिससे दूसरों का जीवन बचाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि रक्त का कोई विकल्प नहीं है, क्योंकि किसी साधन व मशीन द्वारा रक्त नहीं बनाया जा सकता,अर्जुन देव चड्डा ने कहा कि हाड़ौती संभाग में स्वैच्छिक रक्तदान की जागरूकता डॉ वेद प्रकाश गुप्ता द्वारा की गई जो आज रक्तदान एक क्रांति बन गई है और डॉ गुप्ता रक्तदान अभियान के अग्रदूत बन गए हैं।
अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ 24 घंटे मिलेगा रक्त

ब्लड सेंटर की जानकारी देते हुए डॉ. वेद प्रकाश गुप्ता ने बताया कि आरोग्य ब्लड सेंटर में सभी तरह की फैसिलिटी उपलब्ध होगी। प्लाज्मा, एचडीपी, फ्रेश ब्लड, आरडीपी के साथ अत्याधुनिक सुविधाओं व आॅटोमेटिक टेक्नोलॉजी के साथ 24 घंटे यहां ब्लड उपलब्ध हो सकेगा। उन्होंने कहा कि यहां अधिक से अधिक स्वैच्छिक रक्तदान का प्रयास किया जाएगा, डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन के अनुसार 2022 तक स्वैच्छिक रक्तदान को बढ़ावा दिया जाना है और इस कार्य की सफलता के लिए आमजन को आगे आना होगा। राजस्थान में कोटा रक्तदान के क्षेत्र में सबसे अग्रणी रहा है, इस क्षेत्र में कोटा शहर की विभिन्न संस्थाएं बेहतरीन कार्य कर रही हैं। डॉ वेद प्रकाश गुप्ता ने कहा कि आरोग्य ब्लड सेंटर में 750 यूनिट रक्त रखने की क्षमता है, लेकिन आगामी समय में एक कोल्ड स्टोरेज बनाने की योजना है, जिसमें दो हजार यूनिट तक ब्लड रखा जा सकेगा। उन्होंने कहा कि यह ब्लड बैंक अन्य ब्लड बैंकों की तुलना में लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के साथ शहर को समर्पित किया गया है। इस क्षेत्र में ब्लड बैंक की कमी देखी जा रही थी, मरीज के परिजनों को काफी दूर जाकर ब्लड की व्यवस्था करनी पड़ रही थी, लेकिन अब यह ब्लड बैंक कोटा शहर सहित हाड़ौती संभाग के लिए वरदान साबित होगा।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top