आप यहाँ है :

हिंदी विभाग में प्राध्यापक-पालक-विद्यार्थियों का सार्थक संवाद

राजनांदगाँव । शासकीय दिग्विजय स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय के हिंदी विभाग में पालकों, अभिभावकों और प्राध्यापकों की बैठक में अनेक विषयों पर सार्थक चर्चा की गयी । इस अवसर पर बड़ी संख्या में हिंदी के विद्यार्थी भी उपस्थित रहे । अभिभावकों के अपने विचार व्यक्त किए ।

बैठक के आरम्भ में विभाग के प्राध्यापक डॉ. चन्द्रकुमार जैन ने बैठक के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शिक्षा, शिक्षार्थी, शिक्षक, अभिभावक और नागरिकों की परस्पर साझा सहयोग भावना से ही किसी संस्था की प्रतिष्ठा जुड़ी होती है । पालकों से संवाद रहने पर पाल्य विद्यार्थी की समस्याओं एवं जरूरतों के साथ – साथ उसकी पढ़ाई- लिखाई, प्रगति की जानकारी भी प्राप्त होती है, जिससे बेहतर कार्य का रास्ता साफ़ होता है ।

डॉ. जैन ने शिक्षणेतर गतिविधियों में भी विद्यार्थियों की उपलब्धियों की जानकारी दी ।

बैठक में डॉ.बी.एन. जागृत ने विभाग की गतिविधियों की चर्चा करते हुए उपस्थित पालकों से समय-समय पर फीडबैक देने की अपील की । डॉ. नीलम तिवारी तथा अन्य प्राध्यापकों ने भी उद्गार व्यक्त किया । दूसरे चरण में डॉ. चंद्रकुमार जैन ने प्रेरणास्पद शब्दों में पूरे सम्मान के साथ अपने उदगार व्यक्त करने अभिभावकों को आमंत्रित किया । सकारात्मक ऊर्जा व उत्साह से परिपूर्ण माहौल में उपस्थित प्रत्येक पालक ने अपनी बात रखी । पूर्ण सहयोग का भाव व्यक्त किया । साथ ही चुनिंदा विद्यर्थियों ने गुरुजनों की सकारात्मक भूमिका व मार्गदर्शन का आभार माना । संस्था, विभाग, पालकों और अपनी पढ़ाई के प्रति ज्यादा जिम्मेदार बनने का वचन भी दिया ।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top