आप यहाँ है :

श्री प्रभु ने दोनों राज्य मंत्रियों को जिम्मेदारियाँ सौंपी

रेल मंत्रालय में दोनों राज्य मंत्रियों के बीच कामकाज का बंटवारा कर दिया गया है. रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने नए बने राज्यमंत्री राजेन गोहेन और पहले से रेल मंत्री मनोज सिन्हा को अलग-अलग काम सौंप दिए हैं. इस मामले में आदेश जारी कर दिया गया है.

रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा को ये जिम्मेदारियाँ सौंपी गई है
1: सभी रेलवे प्रोजेक्टों के आंकलन और लागत को अनुमोदित करना.
2: प्रोडक्शन यूनिट और वर्कशॉप्स की प्रोत्साहन स्कीम को तय करना.
3: रेलवे में खेलों को बढ़ावा देना.
4: ग्रुप डी, सी और बी के रेलवे कर्मचारियों के अनुशासन और अपील के मामलों का जिम्मा.
5: वेतन आयोग से संबंधित मसले.
6: भारतीय रेलवे में इन्नोवेशन यानी नई तकनीक संबंधी मसले.
7: ऑफिशियल लैंग्वेज से संबंधित मसले.

इसी तरह से असम से सांसद और नए रेल राज्यमंत्री जेन गोहेन को अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, त्रिपुरा, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, तेलांगाना में रेलवे के विकास का जिम्मा सौंपा गया है.

इसके अलावा राज्यमंत्री राजेन गोहेन को जो जिम्मेदारी रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने ये जिम्मेदारियाँ सौंपी है

1: सभी जोनल रेलवे लफेयकी परफॉर्मेंस की समीक्षा का काम.
2: देश भर में मानव रहित क्रासिंग्स, रेलवे फुटओवर ब्रिज, रेलवे अंडरपास और ओवरब्रिज के काम की प्रगति की समीक्षा का काम.
3: रेलवे पीएसयूज केआरसीएल, कॉनकोर, आईआरसीटीसी, इरकॉन, रेलटेल, आईसीएफ, सीएलडबल्यू, राइट्स और एमआरवीसी की समीक्षा जिम्मा.
4: ट्रेनों की समय पर आवाजाही की समीक्षा का काम.
5: टिकट चेंकिंग परफॉर्मेंस की समीक्षा का जिम्मा.
6: यात्री और मालगाड़ियों की शिकायतों की मॉनीटरिंग का काम.
7: दूसरे मंत्रालयों के साथ तालमेल का काम.
8: रेलवे कर्मचारियों के वेलफेयर संबंधित मसले.
9: पीएम रिलीफ फंड से संबंधित मामलों का जिम्मा.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top