आप यहाँ है :

श्री प्रभु ने श्री हिमांशु जैन को प्रतिष्ठित राष्ट्रीय रेल अवार्ड प्रदान किया

राजनांदगांव। रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु ने रेल मंत्रालय, रेलवे बोर्ड के एक गरिमामय समारोह में, संस्कारधानी के यशस्वी युवक और दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के उप महाप्रबंधक श्री हिमांशु जैन को उत्कृष्ट कार्य निष्पादन और प्रभावी नेतृत्व के लिए प्रतिष्ठापूर्ण राष्ट्रीय रेल पुरस्कार से नवाज़ा। समारोह में रेल राज्य मंत्री श्री मनोज सिन्हा, रेलवे बोर्ड के चेयरमैन श्री ए.के.मित्तल, बोर्ड के सभी सदस्य, देश के सभी रेलवे ज़ोन के महाप्रबंधक सहित अनेक वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। गौरतलब है कि भारत सरकार की प्रथम श्रेणी सेवा में नियुक्ति के पहले ही दशक में हिमांशु को रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु के हाथों गत वर्ष रेलवे के डायरेक्टर जनरल मेडल के बाद इस वर्ष नेशनल अवार्ड का यह दोहरा ख़िताब मिला है।

रेलवे बोर्ड ने इस वर्ष यह भव्य समारोह दुनिया भर में मशहूर भुवनेश्वर, उड़ीसा के कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नालॉजी युनिवर्सिटी के आडिटोरियम में आयोजित किया, जहाँ मौजूद तमाम लोगों की निगाहें देश की धड़कन के नाम से सुपरिचित रेलवे के शीर्ष पुरस्कारों के विजेताओं पर टिकी थीं। रेल बोर्ड ने अच्छे कार्यों की संस्तुति करते हुए हिमांशु जैन सहित राष्ट्रीय स्तर के विजेताओं को पुरस्कृत करते हुए उन्हें भारतीय रेल की शान और भारतीय रेल के चमकते सितारे जैसे विशेषणों से भी सम्बोधित किया। प्रेरणा और प्रोत्साहन से निर्मित सकारात्मक वातावरण ने नई ऊर्जा का संचार कर दिया।

उल्लेखनीय है कि आईईएस सेवा के अधिकारी हिमांशु जैन ने एनआईटी रायपुर से इंजीनियरिंग में स्नातक और आईआईटी मुंबई से वीएलएसआई डिजाइन इंजीनियरिंग में एम टेक की उपाधियां मेरिट के साथ अर्जित कीं। बाद में आईईएस में पूरे भारत के टॉप टेन चयनितों में रहे। छात्र जीवन में ही हिमांशु छत्तीसगढ़ के प्रथम राज्योत्सव में राज्यपाल और मुख्य्मंत्री के हाथों पुरस्कृत हुए । युवा नीति और स्वामी विवेकानद पर आधारित लेखन व भाषण स्पर्धाओं में भी अव्वल रहे। एनआईटी और आईआईटी मुंबई के भी गोल्डन जुबली सेरेमनी विजेता रहे और कई यादगार इवेंट्स में दिग्गज हस्तियों के साथ अपनी अहम भूमिका निभायी।

गौरतलब है कि दिग्विजय कालेज के राष्ट्रपति सम्मानित प्रोफ़ेसर डॉ.चन्द्रकुमार जैन और श्रीमती ममता जैन के बेटे हिमांशु वर्तमान में बिलासपुर ज़ोन मुख्यालय में रेलवे के डीजीएम हैं। हिमांशु की जीवन संगिनी श्रीमती विनीता जैन भी आईआईटी कानपुर से एम टेक के आलावा छत्तीसगढ़ राज्य पावर कम्पनी ( विद्युत मंडल ), बिलासपुर में संचार अभियंता हैं। मूलतः टेक्नोब्यूरोक्रेट की सेवा में नियुक्त हिमांशु जैन ने इससे पहले अपनी दक्षता और कार्य कुशलता का परिचय देते हुए वरिष्ठ मंडल संकेत एवं दूरसंचार अभियंता के रूप में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे और ख़ास तौर पर बिलासपुर रेल मंडल को विशेष पहचान दिलाने में सक्रीय भूमिका अदा की।फलस्वरूप राष्ट्रीय पुरस्कार के हकदार बने।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top