आप यहाँ है :

मुंबई में मोदी की महागर्जना

भाजपा के प्रधान मंत्री पद के उम्मीदवार श्री नरेंद्र मोदी के मुंबई आगमन के ठीक 8 घंटे पहले मुंबई विश्वविद्यालय के उपकुलपति ने सांताक्रुज़ के विश्वविद्यालय स्थित मैदान में हैलीपेड पर मोदी का हेलीकॉप्टर उतारने को लेकर अपनी अनुमति वापस ले ली थी, लेकिन मुंबई के पुलिस आयुक्त श्री सत्यपाल सिंह ने पुलिस आयुक्त के विशेषाधिकारों का प्रयोग करते हुए पूरे परिसर को अपने कब्जे में लेकर वहाँ श्री नरेंद्र मोदी के हेलीकॉप्टर को उतारे जाने की व्यवस्था की।

श्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लैक्स में महागर्जना रैली के दौरान वोट फॉर इंडिया का नया नारा दिया, वहीं चायवालों के बहाने कहा कि अब समय बदल रहा है, देश का हर गरीब वीआइपी होगा। वह यह भी कहने से नहीं चूके कि मोदी लोगों के दिलों में जगह बना चुका है। आइए जानते हैं मोदी के भाषण की दस प्रमुख बातें :-

 

1. वोट फॉर इंडिया :

नरेंद्र मोदी ने भाषण के समापन में भाजपा के लिए नहीं, बल्कि भारत के लिए वोट मांगा। उन्होंने 'वोट फॉर इंडिया' का नारा दिया। जनता से संकल्प लिया कि भारत की एकता, विकास, महंगाई व भ्रष्टाचार से मुक्ति, नारियों के लिए सम्मान, वंशवाद से मुक्ति और सुराज की राजनीति के लिए इंडिया के लिए वोट करेंगे।

2. कांग्रेस क्विट इंडिया :

मोदी ने कहा कि आजादी के दौरान महाराष्ट्र से अंग्रेजों के खिलाफ क्विट इंडिया मूवमेंट की शुरुआत हुई थी। यहीं से कांग्रेस क्विट इंडिया की आवाज उठे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस मुक्त भारत का सपना साकार करना होगा क्योंकि हर समस्याओं के जड़ में कांग्रेस पार्टी ही है।

 

3. कुशासन डायबिटीज की तरह :

मोदी ने कहा कि किसी देश या राज्य का कुशासन डायबिटीज बीमारी की तरह होता है जो ऊपर से देखने में तो सही लगता है लेकिन अंदर ही अंदर सैकड़ों बीमारियां पैदा कर देता है। उसी तरह सरकार का कुशासन राज्य को खोखला कर देता है।

 

4. शिवराज सरकार की तारीफ :

मोदी ने कहा कि जब हम गुजरात की तारीफ करते हैं तो कुछ नेताओं को पेट में दर्द होने लगता है इसलिए हम मध्यप्रदेश की बात करेंगे, जहां भाजपा का शासन है। मध्यप्रदेश एक समय बीमारू राज्य कहा जाता था, जहां विकास का नामोनिशान नहीं था ऐसे राज्य में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूरी व्यवस्था बदलते हुए राज्य में खुशहाली ला दी। एक समय था जब पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश गेहूं और चावल की सबसे ज्यादा पैदावार करते थे लेकिन आज मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों ने देश का अनाज भंडार भरा है।

 

5. मोदी लोगों के दिलों में :

जबरदस्त भीड़ से उत्साहित मोदी ने कहा कि उन्हें कांग्रेसशासित राज्यों में रैली से पहले केबल प्रसारण बंद किए जाने की जानकारी है, लेकिन जनता के दिलों पर कोई ताला नहीं लगा सकता। 'मोदी दिलों में जगह बना चुका है।' केबल पर ताला लगा सकते हो, देशवासियों के दिलों पर नहीं।

 

6. देश का हर गरीब वीआइपी :

रैली में 10 हजार चायवालों को वीआइपी देकर आमंत्रित किए जाने का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा, अब चायवाले वीआइपी बन गए हैं। समय बदल रहा है, वह दिन दूर नहीं जब देश में हर गरीब वीआइपी होगा।

7. राहुल पर चुटकी :

राहुल गांधी पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा कि यह सिर्फ कांग्रेस के शासन में होता है कि सरकार भ्रष्टाचार करती है और उनका नेता इसके खिलाफ उपदेश देता है। वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के नेतृत्व में भाजपा के सभी सांसदों ने लिखकर दिया है कि उनका विदेश में कोई खाता नहीं है। कांग्रेस सांसदों ने चुप्पी साध रखी है, लेकिन नेता हैं कि गरीबों की बात करते हैं।

 

8. मुस्लिमों को किया आगाह :

मोदी मुस्लिमों को भी आगाह करने से नहीं चूके। उन्होंने कहा कि सरकार ने मुस्लिमबहुल 90 जिलों के लिए बजट घोषित किया था, लेकिन संसद में खुद सरकार ने माना है कि पिछले तीन वर्ष में इस मद से एक पैसा खर्च नहीं किया गया है।

 

9. श्रमेव जयते :

मोदी ने श्रमिकों की महता पर बल देते हुए सत्यमेव जयते की तर्ज पर श्रमेव जयते का नया नारा दिया।

10. कांग्रेस पर निशाना :

मोदी ने भाषण में कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस वोट बैंक की राजनीति में डूबकर समाज को तोड़ने और बांटने में जुटी हुई है। अंग्रेजों से लड़ते-लड़ते कांग्रेस ने डिवाइड एंड रूल की पॉलिसी अपना ली है। नदियों के लिए लड़ाया जा रहा है लोगों को। पानी बंटवारे को लेकर कई सालों से लड़ाई लड़ रहे हैं लोग और केंद्र में बैठी सरकार को भाई से भाई को लड़ाने में मजा आ रहा है। देश को वोटबैंक की राजनीति से उबारना होगा, तभी देश समस्याओं से मुक्त होगा।

.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top