आप यहाँ है :

ये खबर मोरारी बापू और रमेश भाई ओझा को जरुर शर्मिंदा करेगी!

ये खबर देश के दो महान संतों मोरारी बापू और भूपेंद्र भाई पंड्या को ज़रुर शर्मिंदा करेगी और हो सकता है मुकेश अंबानी की माँ श्रीमती कोकिलाबेन अंबानी को भी शर्मिंदा करे कि देश के सबसे बड़े उद्योगपति जिनका पूरा खानदान शाकाहारी है, वे अब देश भर में लोगों को माँसाहार सहजता से उपलब्ध हो उसके लिए चिकन रेस्त्राँ कोलने जा रहे हैं।

 

इस खबर के शीर्षक में हमने मोरारी बापू और रमेश भाई ओझा का नाम इसलिए लिया है कि दोनों ही संत अंबानी परिवार के प्रिय संत हैं और मोरारी बापू ने तो अंबानी परिवार द्वारा कॉर्पोरेट घरानों के लिए रामचरित मानस पर विशेष कथा तक की थी जिसमें आम आदमी को आने की अनुमति नहीं थी।

 

हमको उम्मीद है कि इन दोनों संतों में इतना स्वभिमान और आत्म गौरव बाकी है कि वे इस खबर पर शर्मिंदा ही नहीं होंगे बल्कि सार्वजनिक रूप से मुकेश अंबानी के इस कारोबार पर शर्मिंदगी जाहिर करेंगे। अगर ये दोनें संत अफ़सोस जाहिर नहीं करते हैं तो फिर ये मान लेना चाहिए कि हजारों लोगों के बीच अपने कथा कार्यक्रम के दौरान मोरारी बापू और रमेश भाई ओझा कथा सुनाने के लिए कथा करते हैं, और अंबानी जैसे घरानों के लोगों को अपनी कथा में आमंत्रित कर उनका महिमा मंडन करते हैं। काश! मोरारी बापू और रमश भाई ओझा मुकेश अंबानी पर पने प्रभाव का उपयोग कर मुकेश अंबानी से देश में गौ-वंश को बचाने के लिए कुछ करवा पाते तो देश के करोड़ों किसानों को नया जीवन मिल सकता था।

देश के प्रमुख अंग्रेजी दैनिक टाईम्स ऑफ इंडिया ने खबर दी है कि देश के सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबानी अब नॉनवेज यानी चिकन रेस्त्रां चेन खोलने जा रहे हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआइएल) के पोर्टफोलियो में एक कारोबार और जुड़ जाएगा। रिलायंस अपने चिकन रेस्त्रां चेन को ब्रिटेन स्थित कंपनी के साथ गठबंधन करके शुरू करेगी।

कंपनी को इस बिजनेस में ग्रोथ नजर आ रही है। भारत में क्विक सर्विस रेस्त्रां (क्यूएसआर) का कारोबार प्रति वर्ष 30 फीसद की तेजी से बढ़ रहा है। हालांकि, मजे की बात यह है कि रिलायंस के मालिक मुकेश अंबानी खुद शाकाहारी हैं और यह उनकी जीवनशैली से बिल्कुल भिन्न है। इससे साफ होता है कि व्यक्तिगत रूप से मुकेश इसमें सीधे तौर पर हस्तक्षेप नहीं करेंगे।

भारत में चिकन प्रेमियों के लिए यह अच्छी खबर हो सकती है। रिलायंस इस चेन का नाम 'चिकन केम फस्ट' दिया है जोकि सीधे केएफसी को टक्कर देगा। दुनिया में चिकन रेस्त्रां चेन में केएफसी को सबसे ज्यादा पॉपुलर माना जाता है। छपी खबर के मुताबिक, आरआईएल ने टू सिस्टर्स फूड इंडिया (टीएसएफआई) में 45 फीसद शेयर लिए हैं। टीएसएफआई ब्रिटेन की तीसरी सबसे बड़ी फूड कंपनी है जोकि पोल्ट्री, रेट मीट, मछली और बेकरी तथा रिटेल चेन को फ्रोजन प्रोडक्ट सप्लाई करती है।

आरआईएल ने इस कंपनी में रिलायंस रिटेल के जरिए हिस्सेदारी खरीदी है लेकिन लेनदेन की राशि का खुलासा नहीं किया गया है। ब्रिटेन की कंपनी के मालिक का नाम रंजीत सिंह बोपरन है। कारोबार की शुरुआत में दोनों कंपनियां फूट आउटलेट को फ्रोजन और चिल्लड फूड को सप्लाई करेंगे। इसके बाद चिकन केम फस्ट के साथ 7,000 करोड़ रुपये के फूड सर्विस मार्केट पर अपनी पकड़ मजबूत करेगी। टूएसएफजी की ब्रिटेन में 36 मैन्युफैक्चरिंग साइट हैं, आठ नीदरलैंड, 5 आयरलैंड और 1 पोलैंड में है।

.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top