ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल और रबात इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ ओथेर सिनेमा, मोरक्को ने हाथ मिलाया

रबात/मोरक्को। आमतौर पर फिल्मों के निर्माण के लिए दो देशों के बीच मिलकर काम करने के करार किये जाते हैं लेकिन पहली बार दो देशों के दो शहरों के बड़े फिल्म समारोहों ने साथ मिलकर फिल्म समारोह आयोजित करने के लिए अनुबन्ध किया है. मोरक्को के मशहूर रबात इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ ओथेर सिनेमा और दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल इस साल से फिल्मों और फिल्मकारों के साथ ही कला संस्कृति और साहित्य के आदान प्रदान भी करेंगे. फरवरी के दुसरे सप्ताह तक चलने वाले रबात इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ ओथेर सिनेमा के साथ दिसम्बर में होने वाले दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ने अरेबियन सिनेमा के साथ एशियन सिनेमा और विश्व सिनेमा के फिल्मकारों के आदान प्रदान का समझौता भी किया है.

049b37aa-6ae7-47d5-890f-01646e82a6da - Copyइस अवसर पर ही दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का २०१६ का ‘एंट्री ओपन’ पोस्टर भी लांच किया गया. इसके साथ ही दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में हिस्सा लेने वाली फिल्मों के लिए आने वाली प्रविष्टियाँ भी खोली जा रही हैं. रबात इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ ओथेर सिनेमा के प्रेसिडेंट अब्देलहक मंत्राश और दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के प्रेसिडेंट रामकिशोर पारचा और मोरक्को में भारत के राजदूत श्री दिनेश पटनायक ने इस पोस्टर को लांच किया. इस अवसर पर दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की ओर से भारत के राजदूत श्री दिनेश पटनायक ने रबात इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ ओथेर सिनेमा के प्रेसिडेंट अब्देलहक मंत्राश को दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के विशेष सम्मान गोल्डन मीनार से भी सम्मानित किया.

रबात इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ ओथेर सिनेमा के प्रेसिडेंट अब्देलहक मंत्राश और दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के प्रेसिडेंट रामकिशोर पारचा ने मोरक्को की राजधानी रबात में एक अनुबंध पर भी हस्ताक्षर किये. रबात इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ ओथेर सिनेमा मोरक्को में मारेकश फिल्म फेस्टिवल के बाद दूसरा सबसे बड़ा फिल्म समारोह है. गौरतलब है कि इब्ने बतूता के देश मोरक्को में हिंदी फिल्मों और भारतीय सिनेमा की लोकप्रियता के चलते मोरक्को में भारतीय फिल्मों की शूटिंग और निर्माण के लिए नए रास्ते खोले गए हैं और मोरक्को टूरिज्म के साथ वहां की लोकेशंस को बढ़ावा देने के लिए भी दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की मदद ली जा रही है.

साथ ही मोरक्को से आने वाले फिल्मकारों के लिए भी राजधानी दिल्ली के साथ उत्तर प्रदेश सरकार के फिल्म बंधू विभाग ने भी अन्य देशों के फिल्मकारों को भी प्रदेश में शूटिंग करने के लिए आमंत्रित किया गया है. फिल्म बंधू इस साल दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का सहयोगी था.

इसके साथ ही दूसरी तरफ दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में हिस्सा लेने वाली फिल्मों के लिए आने वाली प्रविष्टियों का २०१६ का दूसरा पोस्टर श्रीलंका की राजधानी कोलम्बो में भी लांच किया गया था.

यही नहीं, इस बार दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल फेस्टिवल का लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड भी श्रीलंका में दिया गया. केतन मेहता को यह अवार्ड श्रीलंका की राजधानी कोलोम्बो में दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में सर्वश्रेष्ठ अवार्ड से नवाजी गयी निर्देशक देविन्दा कोंगाहागे की फिल्म ‘भवतरना : क्रॉसिंग संसारा’ की एक भव्य स्क्रीनिंग के दौरान श्रीलंका के राष्ट्रपति श्री मैत्री पाल श्रीसेना ने विशेष रूप से प्रदान किया. राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता और मंगल पांडे के बाद मांझी जैसी फिल्मों के लिए चर्चा में रहे निर्देशक केतन मेहता को इस अवार्ड लेने के लिया विशेष रूप से श्रीलंका बुलाया गया था. यह पहला अवसर है जब किसी अंतर राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल का लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड देश के बाहर किसी देश के राष्ट्रपति द्वारा दिया गया है और फेस्टिवल का पोस्टर भी दो देशों में लांच किया गया है .

दिल्ली सरकार, दिल्ली टूरिज्म और एनडीएमसी के सहयोग से होने वाले दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में इस बार ६९ देशों की २१९ फ़िल्में दिखाई गई थी. चौथे दिल्ली इंटर नेशनल फिल्म फेस्टिवल का उद्घाटन दिल्ली के उप मुख्य मंत्री श्री मनीष सिसोदिया और टूरिज्म कल्चर मिनिस्टर श्री कपिल मिश्रा के साथ जैकलिन फर्नांडेज, तिग्मांशु धुलिया और सुधीर मिश्रा ने किया था .

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top