Saturday, July 20, 2024
spot_img
Homeदुनिया भर कीप्रधानमंत्री ने देहरादून के छात्र अनुराग रमोला को पत्र लिखा

प्रधानमंत्री ने देहरादून के छात्र अनुराग रमोला को पत्र लिखा

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी समय-समय पर संवाद स्थापित कर देश की युवा पीढ़ी, खासकर छात्रों का मनोबल बढ़ाते रहते हैं। ‘मन की बात’ हो, ‘परीक्षा पर चर्चा’ हो या निजी संवाद हो, प्रधानमंत्री मोदी ने हमेशा विभिन्न माध्यमों से युवाओं की चिंताओं और जिज्ञासाओं को समझकर उनका उत्साहवर्धन किया है। इसी क्रम में प्रधानमंत्री ने एक बार फिर देहरादून के 11वीं कक्षा के छात्र अनुराग रमोला के पत्र का जवाब देकर उनकी कला और उनके विचारों की सराहना की है।

अनुराग के विचारों से प्रभावित होकर प्रधानमंत्री ने पत्र में लिखा है, ‘आपकी वैचारिक परिपक्वता, पत्र में लिखे आपके शब्दों और पेंटिंग के लिए चुने गए विषय ‘भारत की आजादी के अमृत महोत्सव’ से परिलक्षित होती है। मुझे खुशी है कि किशोरावस्था से ही आपमें राष्ट्र हित से जुड़े मुद्दों की समझ विकसित हुई है और आप एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में देश के विकास में अपनी भूमिका को अच्छी तरह समझते हैं।

आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में सभी देशवासियों के योगदान की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री ने आगे लिखा है: “आजादी के इस अमृत काल में सामूहिक शक्ति की ऊर्जा और ‘सबका प्रयास’ के मंत्र के साथ देश आगे बढ़ रहा है। आने वाले वर्षों में एक मजबूत और समृद्ध भारत के निर्माण में हमारी युवा पीढ़ी का योगदान महत्वपूर्ण होगा।’’

अनुराग को सफल भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए, प्रधानमंत्री मोदी ने विश्वास व्यक्त किया कि वे जीवन में रचनात्मकता तथा योग्यता-अनुरूप सफलता के साथ आगे बढ़ते रहेंगे।

अनुराग को प्रेरित करने के लिए इस पेंटिंग को नरेन्द्र मोदी ऐप और narendramodi.in की वेबसाइट पर भी अपलोड किया गया है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले अनुराग ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर राष्ट्र हित से जुड़े विषयों पर अपने विचारों से अवगत कराया था। अनुराग ने अपने पत्र में लिखा था कि विपरीत परिस्थितियों में भी धैर्य नहीं खोना, पूरी मेहनत और ईमानदारी से अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ना और सबको साथ लेकर चलने की प्रेरणा उन्हें प्रधानमंत्री से मिलती है।

नोट- अनुराग रमोला को कला एवं संस्कृति के लिए 2021 के प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार