आप यहाँ है :

साध्वी प्राची ने पूछा, तब शाहरुख खान कहाँ थे

साध्‍वी प्राची ने सोमवार को कहा, ‘शाहरुख खान पाकिस्‍तानी एजेंट है। उस पर राष्‍ट्रद्रोह का मुकदमा होना चाहिए।’ उन्‍होंने राष्‍ट्रीय सम्‍मान लौटाने वाले सभी इतिहासकारों, लेखकों और फिल्‍मकारों के खिलाफ राष्‍ट्रद्रोह का मुकदमा करने की मांग की है।

साध्‍वी ने सवाल उठाया कि कि जब कश्‍मीर में लाखों लोग मारे-काटे जा रहे थे तो शाहरुख खान और इन जैसे लोग कहां थे? जब कश्‍मीर के लोगों को उनकी ही जमीन और घरों से खदेड़ा जा रहा था तो इन जैसे लोग कहां थे? जब ट्रेन में हिंदुओं को जिंदा जिला दिया गया था और कारसेवकों पर गोलियां दागी गई थीं तो ये अवॉर्ड लौटाने वाले लोग कहां थे?

साध्‍वी प्राची ने कहा कि शाहरुख को इतनी भी तमीज नहीं है कि जिस देश के लोगों ने उसे बिना किसी भेदभाव के फिल्‍मस्‍टार बनाया, वही अब अवॉर्ड लौटाने वालों की सूची में शामिल हो गए हैं।

शाहरुख को समझना चाहिए कि इस देश के युवा उसे आदर्श समझते हैं। उनके इस तरह के बयान देने से कुछ युवा गलत कदम उठा सकते हैं।

मालूम हो कि इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक शाहरुख खान ने कहा, ‘भारत में कोई देशभक्‍त सेक्युलरिज्म के खिलाफ जाकर सबसे बड़ी गलती करता है। हां, सिम्बॉलिक गेस्चर के तौर पर मैं भी (अवॉर्ड) लौटा दूंगा। मुझे भी लगता है कि इन्टॉलरेंस बढ़ रहा है।’

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top