आप यहाँ है :

रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभाकर प्रभु की फ्रांस यात्रा की उपलब्धियाँ

केंद्रीय रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने 11-12 अप्रैल, 2016 को फ्रांस की यात्रा की। अपनी यात्रा के दौरान उन्‍होंने फ्रांस के संवैधानिक परिषद के अध्‍यक्ष श्री लॉरेंट फेबियस से मुलाकात की एवं परिवहन, सामुद्रिक मामले एवं मत्स्‍य राज्‍य मंत्री श्री एल.एन.विडालाइज से मिले। श्री प्रभु ने पेरिस में बैंक डे फ्रांस परिसर में आयोजित इमर्जिग मार्केट फोरम में भी भाग लिया जहां उन्‍होंने ‘2050 में उभरते विश्‍व’ पर भाषण दिया। रेल मंत्री श्री प्रभु ने एसएनसीएफ (फ्रेंच रेलवे) के सीईओ सुश्री फोरेंस पारले से भी मुलाकात की। एनएनसीएफ ने पेरिस से रेम्‍स तक अपनी फास्‍ट ट्रेन (टीजीवी) पर रेल मंत्री की यात्रा का भी आयोजन किया, जिस दौरान श्री प्रभु रेल गाड़ी के ड्राइवर के केबिन में बैठे।

11 अप्रैल, 2016
परिवहन, सामुद्रिक मामले एवं मत्स्‍य राज्‍य मंत्री श्री एल.एन.विडालाइज (एवी) से मुलाकात
एवी ने अपने मंत्रालय में श्री प्रभु का स्‍वागत किया एवं भारत के महत्‍वपूर्ण व्‍यक्तियों की हाल की फ्रांस यात्रा का स्‍मरण किया। इनमें सीओपी-21 के दौरान लीडर्स कांफ्रेंस के लिए प्रधानमंत्री की यात्रा एवं अक्‍टूबर 2015 में शहरी विकास मंत्री श्री वेंकैया नायडू की यात्रा शामिल है। एवी ने उस परिपेक्ष्‍य में भारत और फ्रांस के बीच उच्‍च स्‍तरीय संबंधों को लेकर संतोष व्‍यक्‍त किया, जिसमें दोनों देशों के बीच रेल के क्षेत्र में भी काफी अच्‍छा सहयोग है। भारतीय रेल एवं एसएनसीएफ के बीच वर्तमान के अनगिनत समझौता ज्ञापनों को उद्धृत करते हुए उन्‍होंने विशेष रूप से एसएनसीएफ द्वारा लुधियाना तथा अम्‍बाला स्‍टेशनों के नवीनीकरण के लिए हाल के दो समझौता ज्ञापनों का जिक्र किया।

रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु ने हार्दिक स्‍वागत के लिए एवी को धन्‍यवाद दिया। उन्‍होंने कहा कि उनके विचार से रेल क्षेत्र भारत-फ्रांस संबंधों को आगे बढ़ाने में एक प्रमुख भूमिका निभाएगा। उन्‍होंने कहा कि वह एवी को एक आधिकारिक निमंत्रण भेजेंगे। उन्‍होंने यह भी कहा कि भारत चाहता है कि भारतीय रेल की सफलता की गाथाओं में फ्रांस की कंपनियों की भी भूमिका हो।

फ्रांस के संवैधानिक परिषद के अध्‍यक्ष श्री लॉरेंट फेबियस (एलएफ) के साथ मुलाकात
श्री सुरेश प्रभु ने एलएफ को संवैधानिक कार्यालय में उनके पदोन्‍नति पर उन्‍हें बधाई दी। उन्‍होंने एलएफ को सीओपी-21 के अध्‍यक्ष के रूप में उपलक्ष्‍य में उनकी उपलब्धि पर भी बधाई दी जिसकी प्रक्रिया के सफलतापूर्वक समापन से पेरिस समझौता संभव हो पाया। श्री सुरेश प्रभु ने भारत-फ्रांस संबंधों की मजबूती में महत्‍वपूर्ण योगदान देने के लिए भी एलएफ की सराहना की जब‍एलएफ फ्रांस के विदेश मंत्री थे। श्री सुरेश प्रभु ने एलएफ को बताया कि प्रधानमंत्री भारत-फ्रांस समझौतों को लेकर काफी आशावादी हैं।

श्री सुरेश प्रभु और सीओपी-21 के लिए फ्रांस के विशेष प्रतिनिधि सुश्री लॉरेंस टूबियाना के बीच दूरभाषिक वार्ता
कार्यक्रम की कठिनाइयों के चलते दोनों के बीच मुलाकात संभव नहीं हो सकी। बहरहाल, दोनों के बीच दूरभाषिक बातचीत हुई, जिसमें श्री सुरेश प्रभु ने सुश्री टूबियाना को सीओपी-21 की सफलता पर बधाई दी, जिसकी प्रक्रिया के सफलतापूर्वक समापन से पेरिस समझौता संभव हो पाया।
12 अप्रैल, 2016

टीजीवी (हाई स्‍पीड) रेल गाड़ी की सवारी
श्री सुरेश प्रभु ने पेरिस से रेम्‍स तक फास्‍ट ट्रेन (टीजीवी) पर यात्रा भी की, जिस दौरान श्री प्रभु रेल गाड़ी के ड्राइवर के केबिन में बैठे। एसएनसीएफ इंटरनेशनल के निदेशक श्री डियेगो डियाज एवं एफएस (ई एंड सी) भी श्री सुरेश प्रभु के साथ रहे। रेल गाड़ी के चालक ने श्री सुरेश प्रभु को ड्राइवर के केबिन में स्‍थापित सुरक्षा विशेषताओं एवं आधुनिक उपकरणों के बारे में जानकारी दी।

दिन के भोज पर मुलाकात
एआरईपी (एसएनसीएफ की डिजाइन एवं आर्किटेक्‍ट सहायक कंपनी) के अंतरराष्‍ट्रीय निदेशकश्री इरिक डूसियॉट (ईडी) एवं सार्वजनिक मामलों के निदेशक, महासचिव श्री ज्‍यां मेनुअल हुये ने रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु के लिए दिन के भोज का आयोजन किया। ईडी ने श्री सुरेश प्रभु को स्‍टेशन विकास परियोजना में आने वाली दिक्‍कतों एवं इसमें हुई प्रगति के बारे में जानकारी दी।

इमर्जिग मार्केट फोरम में भाषण
श्री सुरेश प्रभु ने पेरिस में बैंक डे फ्रांस परिसर में आयोजित इमर्जिग मार्केट फोरम में भी भाग लिया जहां उन्‍होंने ‘2050 में उभरते विश्‍व’ पर भाषण दिया। इस भाषण में उन्‍होंने उभरते बाजार के सामने आने वाले जलवायु परिवर्तन, विस्‍थापन, आर्थिक मंदी, सतत विकास जैसे मुद्दों की चर्चा की जिनका समाधान 2050 में एक बेहतर विश्‍व के लिए आवश्‍यक है। राजदूत एवं एफएस (ई एंड सी) ने भी इस समारोह में भाग लिया।

एसएनसीएफ (फ्रेंच रेलवे) के सीईओ सुश्री फोरेंस पारले से मुलाकात
रेल मंत्री श्री प्रभु ने एसएनसीएफ के सीईओ सुश्री फोरेंस पारले (एफपी) से मुलाकात की। श्री सुरेश प्रभु ने एफपी को जानकारी दी कि भारत सरकार ने अगले पांच वर्षों में रेलवे में 142 मिलियन डॉलर का निवेश करने का फैसला किया है और विश्‍व बैंक तथा अन्‍य ऋण दाता/ निवेशक वित्‍त पोषण के लिए तैयार हैं। श्री सुरेश प्रभु ने भारत में मौजूदा रेल ट्रैक में गति में तेजी लाने से संबंधित संपूर्ण अध्‍ययन योजना बनाने का आग्रह किया। उन्‍होंने एसएमसीएफ से विचार-विमर्श के लिए भारत में एक शिष्‍टमंडल लाने तथा रेलवे सहयोग के नये क्षेत्रों पर एक प्रोटोकॉल पर हस्‍ताक्षर करने को भी आमंत्रित किया।

image_pdfimage_print


1 टिप्पणी
 

  • Jitendra

    अप्रैल 24, 2016 - 10:35 am

    Starter one train in morning from Borivali to Surat.
    Serve the local Train rus in mornig from Borivali to Santa cruz and start some more train between 8 am to 10am it is most dengerious pick up hours please have your solution. Plz reply.

Comments are closed.

Get in Touch

Back to Top