ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

राजस्थानी लोक साहित्य को एक नई आभा देने वाले विजयदान देथा नहीं रहे

राजस्थानी भाषा के जानेमाने साहित्यकार  विजयदान देथा उर्फ बिज्जी का निधन हो गया है. वो 87 साल के थे. बिज्जी के नाम से मशहूर विजयदान देथा अपनी कहानियों के लिए देश-विदेश में मशहूर थे. राजस्थान के पाली ज़िले के रहने वाले विजयदान देथा ने राजस्थानी में करीब 800 छोटी-बड़ी कहानियां लिखीं. जिनका कई भाषाओं में अनुवाद किया गया है.

उनकी कहानियों में राजस्थानी लोक संस्कृति, आम जीवन की झलक मिलती है. विजयदान देथा को साहित्य अकादमी और पद्मश्री से सम्मानित किया गया था.  उन्हें नोबेल पुरस्कार के लिए भी नामांकित किया गया था.

नाटक और फिल्में भी बनीं :

देथा की कई कहानियों और उपन्यासों पर कई नाटक और फिल्में बन चुकी हैं. इनमें हबीब तनवीर द्वारा निर्देशित नाटक चरणदास चोर और अमोल पालेकर के द्वारा बनाई गई फिल्म पहेली प्रमुख है. पहेली को भारत की ओर से ऑस्कर में भी भेजा गया था.

.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top