Sunday, June 16, 2024
spot_img
Homeफ़िल्मी-गपशपसच्ची कहानी पर आधारित है निर्देशक अविनाश ध्यानी फिल्म फूली

सच्ची कहानी पर आधारित है निर्देशक अविनाश ध्यानी फिल्म फूली

मुंबई : अभिनेता और निर्देशक अविनाश ध्यानी की फ़िल्म फूली का पोस्टर और रिलीज़ डेट जारी कर दिया गया हैं  सिनेमा घरों में अभिनेता और  निर्देशक अविनाश ध्यानी की आने वाली फिल्म “फूली” किसी एक बच्ची की कहानी मात्र नहीं है | फिल्म में फूली के किरदार में अविनाश ध्यानी ने, पहाड़ में रहने वाली हर महिला की जिंदगी को दर्शाया है, इस फिल्म के दौरान वो करीब 8 महीनों तक तिमली गांव,( पौड़ी जिला)  में रहे, और बिना किसी जल्दबाजी के इस फिल्म को बनाते रहे| अविनाश  से की गयी बातचीत में उन्होंने बताया कि उनकी बनाई सारी फिल्मों से फूली फिल्म उनके सबसे करीब है क्योंकि फूली यथार्थ के बहुत नजदीक है | फूली फिल्म में उन्होंने पहाड़ की कई महिलाओं के जीवन से प्रेरणा ली है, जिसमें की उनकी  माँ भी शामिल हैं, पहाड़ को करीब से जानने और समझने के चलते उन्हें लगा कि ये एक ऐसी कहानी है जो सिर्फ पहाड़ों तक सीमित रहने के लिए नहीं है, इसे देशभर में लोगों तक पहुँचना चाहिए |

फिल्म की कहानी फूली के किरदार के आस पास घुमती है, जो की एक 14 साल की होनहार बच्ची है, जो पढ़ना चाहती है, लिखना चाहती है, आगे बढ़ना चाहती है, मगर हालत और परिस्थितियाँ उसके विपरीत हैं, उसके पिता अपनी शराब की लत के आगे लाचार हैं |  फूली अपने पिता कि हर बात मानने के साथ हर वो कोशिश करती है जिससे की वो किसी तरह अपनी पढ़ाई पूरी करे, जब उसका मनोबल कम होता है तो तभी उसकी जिंदगी में एक जादूगर आता है जो उसे समझाता है कि कैसे उसकी जिंदगी बदलना उसके अपने हाथों में है और बताता है कि “कोई नहीं आता आपकी जिंदगी में जादू करने, वो जादू आपको ख़ुद करना होता है अपनी जिंदगी में |”  कैसे फूली जादूगर की कही बातों को समझती है और अपने जीवन में उतारती है, इसी पर पूरी फिल्म आधारित है |

फूली, ऐसा सिनेमा है जो कई सालों में एक बार बनता है जहाँ आप जब उसे देखते हैं तो आप अपना समय देकर कुछ सीख कर जाते हैं, फूली भले ही एक बच्ची की कहानी है पर वो जीवन के कई ऐसे पड़ावों पर प्रकाश डालती है जिनसे हर इंसान, कभी न कभी, किसी ना किसी उम्र में गुजरता है|

ये फिल्म सभी के लिए है और सभी तक पहुँचनी चाहिए, फिल्म 7 जून  को सिनेमा घरों में आ रही है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार