आप यहाँ है :

सुलोचना संस्कार वाटिका के अभिभावक सम्मेलन में हुई संस्कारों पर सार्थक चर्चा

राजनांदगांव। संस्कारधानी की गौरवशाली धार्मिक संस्था दादा श्री जिनदत्त सूरी सेवा संघ द्वारा संचालित सुलोचना संस्कार वाटिका का अभिभावक सम्मेलन नई इबारत लिख गया। सम्मेलन संस्था के आयम्बिल भवन में आहूत था जहां प्रारम्भ में मंगलाचरण व भजन के माध्यम से वाटिका के प्रतिभाशाली होनहारों ने बताया कि संस्था में उन्होंने क्या सीखा।

संघ के अध्यक्ष एवं प्रमुख ट्रस्टी श्री किशोर बैद ने अच्छे कार्योंं की निरंतरता बनाये रखने और उसके शुभ परिणामों को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाने की आवश्यकता प्रतिपादित की। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्री तिलोकचन्द बैद ने संस्कार वाटिका के श्रेष्ठ आयोजन की सराहना करते हुए शुभकामना दी। इस अवसर पर श्रीमती सरोज गोलछा , श्रीमती ममता जैन, मनोज झाबक ने संस्कार और स्वच्छता पर केंद्रित बहुमूल्य उदगार व्यक्त किये।

आयोजन में दुर्ग के विषेशज्ञ डॉ.डी.सी.जैन ने आहार-व्यवहार एवं स्वास्थ्य के मध्य संबंधों पर अत्यंत उपयोगी मार्गदर्शन दिया। उन्होंने विशेषकर जैन आहार विज्ञानं के सन्दर्भ में प्रकाश डालते हुए उसके अनुपालन के उपाय भी बताये। कार्यक्रम का सफल संचालन श्री प्रकाश ललवानी ने किया। अभिभावक सम्मेलन में समाज के वरिष्ठ एवं अग्रणी श्री भीखमचंद छाजेड़, श्री तिलोकचन्द गोलछा, श्री इन्दरचन्द चोपड़ा विशेष रूप से उपस्थित थे।

आयोजन को सफल बनाने में सर्वश्री भूपेन्द्र डाकलिया, विकास दुग्गड़, मनीष कोठारी, डूंगरमल पींचा, अंकुश छाजेड़ एवं शुभम लालवानी अादि ने अहम योगदान दिया।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top