Sunday, June 16, 2024
spot_img
Homeखबरेंशिक्षक सम्मान, युवाओं को भारत के नवनिर्माण के लिए तैयार करें शिक्षकः...

शिक्षक सम्मान, युवाओं को भारत के नवनिर्माण के लिए तैयार करें शिक्षकः बिरला

कोटा। आजादी के बाद पिछले 75 वर्षों में देश का गौरव-सम्मान बढ़ा है। यह शिक्षकों के कारण हुआ जिन्होंने चुनौतियों के बीच ऐसे युवा तैयार किए जो देश को विकास के पथ पर ले गए। अब जब हम आजादी के शताब्दी वर्ष में भारत को विकसित राष्ट्र बनाने के लक्ष्यकी ओर बढ़ रहे हैं तब बदलती परिस्थितियों में युवाओं को भारत के नवनिर्माण के लिए तैयार करने का दायित्व भी शिक्षकों का ही है। यह बात लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भामाशाह मंडी परिसर में आयोजित शिक्षक अभिनंदन समारोह में कही।

शिक्षकों का सम्मान करते हुए स्पीकर बिरला ने कहा कि एक बालक का जन्म भले ही माता-पिता देते हैं, लेकिन उसका व्यक्ति-निर्माण और चरित्र-निर्माण शिक्षक ही करते हैं। जो कुछ भी एक शिक्षक के पास होता है, वह सबकुछ अपने शिष्य को समर्पित कर देता है। यही कारण है कि आज भी शिक्षकों का सबसे अधिक सम्मान किया जाता है।

समारोह में केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंन्द्र प्रधान ने कहा कि भारत में शिक्षकों को गौरवशाली इतिहास रहा है। भारत सदियों तक गुलाम रहा। विदेशी आक्रांताओं ने राजाओं को तो झुका दिया लेकिन वे शिक्षकों को नहीं झुका सके। यही कारण है कि हमारी संस्कृति और संस्कार आज भी जीवित हैं।

उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व मे भारत सरकार शिक्षा के पूरे ढांचे को मजबूत करने का कर रही है। देश जब आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है तो प्रधानमंत्री मोदी ने आने वाले 25 वर्षों को देश के लिए सबसे महत्वपूर्ण बताया है। आजादी के शताब्दी वर्ष में भारत को विकसित राष्ट्र बनाने के लिए उन्होंने युवाओं को अनुसंधान पर अधिक फोकस करने का आव्हान किया है, जिसमें समर्थ शिक्षक ही उनकामार्गदर्शन करेंगे।

शिक्षा मंत्री प्रधान ने कहा कि कोटा अपनी एक ऐतिहासिक पहचान रखता है। परंतु बीसवीं सदी के अंत और 21वीं सदी की शुरुआत के इन 40 वर्षों में कोटा ने विद्वता और पुरुषार्थ से एक नई पहचान स्थापित की है। परम्परागत कोचिंग से डिजिटल एजुकेशन तक का कोटा का सफर सफल रहा है। राजस्थान देश में सामाजिक-वैज्ञानिक सृजन की भूमि रही है, कोटा भी उसें अग्रणी है।

शिक्षक सम्मान समारोह में सरकारी व निजी स्कूल और काॅलेज के 20 शिक्षकों को तिलक और माला से शाॅल भेंट कर सम्मान किया गया।

कार्यक्रम के दौरान कोटा एजुकेशन डवलपमेंट फोरम के संरक्षक राजेश बिरला, अध्यक्ष प्रमोद माहेश्वरी चांसलर, सीपी यूनिवर्सिटी के ओम माहेश्वरी, मां भारती ग्रुप के महेश विजय, एलबीएस ग्रुप के कुलदीप माथुर, एसआर पब्लिक स्कूल के आनंद राठी, बीएसएन ग्रुप के महावीर विजय, एलेन करियर इंस्टीट्यूट के गोविंद माहेश्वरी, शिवज्योति ग्रुप के महेश गुप्ता, सर्वोदय एजुकेशन सोसायटी के एजी मिर्जा, कोटा विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर नीलिमा सिंह, राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति कुलपति प्रो एसके सिंह, करियर प्वाइंट यूनिवर्सिटी के कुलपति टीआर शर्मा ने सम्मान किया।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार