ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

“टेक्सटाइल सिटी भीलवाड़ा” का विमोचन

शोध एवं प्रतियोगी परीक्षा तैयारी में उपयोगी – शिखा अग्रवाल

कोटा। नवोदित लेखिका श्रीमती शिखा अग्रवाल की पुस्तक ” टेक्सटाइल सिटी भीलवाड़ा” का भीलवाड़ा में शुक्रवार को हिन्दू नव वर्ष की पूर्व संध्या पर लघु उद्योग भारती की आयोजित कार्यशाला में समारोहपूर्वक किया गया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय बौद्धिक प्रमुख श्री श्रीकांत भाई साहब के सानिध्य में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अथिति भीलवाड़ा के विधायक विट्ठल शंकर अवस्थी एवं अन्य अतिथियों ने पुस्तक का विमोचन किया।

विधायक अवस्थी ने कहा कि वस्त्र उद्योग के नाम से देश में पहचान बनाने वाले नगर भीलवाड़ा की कला – संस्कृति को जोड़ कर लिखी गई यह पुस्तक मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने श्रम साध्य कार्य के लिए लेखिका को अपनी और से बधाई दी। प्रदेश संयुक्त सचिव श्री राजकुमार मेलाना ने कहा कि पुस्तक में यहां के वस्त्र उद्योग के समस्त पहलुओं को बखूबी प्रस्तुत किया गया हैं। प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राम किशोर काबरा ने कहा कि लेखिका के इस प्रयास से भीलवाड़ा में पर्यटन विकास का मार्ग प्रशस्त होगा। भीलवाड़ा इकाई अध्यक्ष महेश हुरकट ने कहा भीलवाड़ा जिले के इतिहास, सभी क्षेत्रों में प्रगति और दर्शनीय स्थलों को शामिल कर लेखिका ने महत्वपूर्ण दस्तावेज तैयार किया है जो सभी के लिए उपयोगी होगा।

ग्रोथ सेंटर इकाई के अध्यक्ष रामप्रकाश काबरा ने कहा कि हमारे सदस्य गिरीश अग्रवाल की पत्नी लेखिका द्वारा लिखी इस पुस्तक से लघु उद्योग भारती परिवार का मान बढ़ा है और अन्य परिवार जनों को भी नवाचार करने की प्रेरणा मिली है। महिला इकाई अध्यक्ष विमला मुनोत ने कहा आज जब की हर क्षेत्र में महिलाएं आगे आ रही हैं ऐसे में लेखिका ने साहित्य के क्षेत्र में कदम बढ़ाया है जो अत्यंत सराहनीय है। लघु उद्योग भारती के समस्त सदस्यों एवं उद्योग विभाग के अधिकारियों ने लेखिका को बधाई दी।

इस अवसर पर लेखिका शिखा अग्रवाल ने पुस्तक की विषय वस्तु के बारे में बताते हुए कहा कि गौरवमय इतिहास का धनी भीलवाड़ा हर क्षेत्र में प्रगति की दौड़ में आगे है। उन्होंने कहा जिले की सभ्यता,संस्कृति,परम्परा, रीति – रिवाज, शिल्प कला, मेले – उत्सव और पर्यटक स्थल सभी कुछ मिल कर जिले को बहु रंगी रूप प्रदान करते हैं। यह पुस्तक शोध करने वालों एवं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स के लिए उपयोगी साबित होगी मेरा ऐसा विश्वास है। उन्होंने पुस्तक लेखन में अपने पति गिरीश अग्रवाल सहित उन सभी का आभार व्यक्त किया जिनके सहयोग से यह पुस्तक सबके सामने आई है। पुस्तक की भूमिका कोटा राजकीय सार्वजनिक मंडल पुस्तकालय के संभागीय – पुस्तकालयाध्यक्ष डॉ.दीपक कुमार श्रीवास्तव ने लिखी है। भीलवाड़ा में भारत विकास परिषद की महिला इकाई की सदस्यों ने पुस्तक के लिए लेखिका को बधाई देते हुए स्वागत किया।

भीलवाड़ा जिले के बारे में पाठकों की ज्ञान पिपासा को शांत करने वाली इस आकर्षक कलेवर वाली पुस्तक का प्रकाशन सहित्यागार जयपुर द्वारा किया गया है। पुस्तक को 6 अध्यायों में विभक्त कर अंत में चित्र – खंड में महत्वपूर्ण रंगीन चित्र दिए गए हैं। कुल 160 पृष्ठ की पुस्तक का मूल्य 300 रुपए है। पुस्तक अमेजॉन एवं फिलपकर्ट पर पाठकों के लिए उपलब्ध कराई गई है। लेखिका को मुंबई, दिल्ली,गुरुग्राम, कोटा,उदयपुर,जयपुर,लखनऊ, बारां, देहरादून, मुजफ़्फरनगर आदि स्थानों से बड़ी संख्या में शुभचिंतक , लेखक,पत्रकार बधाई दे रहे हैं।

लेखिका परिचय
भीलवाड़ा निवासी शिखा अग्रवाल पिछले आठ वर्षो से लेखन, पत्रकारिता में एवं समाज सेवा में सक्रिय है। अंग्रेजी विषय में प्रथम श्रेणी में पोस्ट ग्रेजुएट एवं बी.एड.कर निजी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में अंग्रेजी की व्याख्याता रही। आप बच्चों का अंग्रेजी में मार्ग दर्शन करती हैं। आप दो वर्ष तक कोटा के एक पाक्षिक समाचार पत्र में उप सम्पादक रही और अब तक देश के विभिन्न समाचार पत्रों एवं न्यूज़ पोर्टल पर इनके 100 से अधिक आलेख प्रकाशित हो चुके हैं। यह इनकी चौथी पुस्तक है। आपके द्वारा संपादित अन्य लेखकों के साथ एक ओर पुस्तक “वर्ल्ड हेरटेज ग्लोबल टू लोकल ” प्रकाशन प्रक्रिया में है। आप भीलवाड़ा में भारत विकास परिषद की महिला इकाई से जुड़ कर पिछले दो वर्षो से समाज सेवा में सक्रिय हैं।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top