आप यहाँ है :

ट्विटर के जरिए लोगों के दिलों तक पहुँच रहे हैं प्रभुजी

रेल मंत्री सुरेश प्रभु के रेलवे ट्विटर अकाउंट से रेल यात्री खासे खुश हैं। तरह-तरह की शिकायतें और मदद की गुजारिश ट्विटर अकाउंट पर आ रही हैं। मामला मंत्रालय से सीधा जुड़ा होने के कारण रेलवे अधिकारी भी इसमें कोई कोताही नहीं बरत रहे हैं। रतलाम मंडल में भी औसतन हर महीने 150 से 200 ऐसे मामले आ रहे हैं, जो ट्विटर से जुड़े हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल सितंबर में रेलमंत्री द्वारा शुरू किए ट्विटर अकाउंट के बाद मंडल में अब तक कुल 990 शिकायतें आ चुकी है। इसमें कई शिकायतों का निराकरण कर रेल मंत्रालय को अवगत भी कराया गया। मंडल के रेल अधिकारियों के अनुसार परिजन द्वारा रेल यात्री से संपर्क नहीं होने के मामले ज्यादा आ रहे हैं।

कई यात्रियों की उनके परिजनों से बात कराई गई है। ट्विटर अकाउंट के माध्यम से यात्रियों द्वारा खानपान की समस्या, स्टेशनों पर साफ-सफाई, एसी कोच में बेडशीट तथा तकिया जैसे इंतजामों के लिए भी मैसेज आ रहे हैं।

सेल गठित करने की तैयारी

रतलाम रेल मंडल में इसके संबंध में ट्वीट सेल गठित करने की तैयारी चल रही है। फिलहाल यह काम रेल कर्मचारियों के अधीन है। वे स्वयं व्यवस्था को संचालित कर रहे हैं। पश्चिम रेलवे मुख्यालय से इसके संबंध में अधिसूचना जारी की गई है। इसमें मैसेज खोलने, पढ़ने तथा इसे संबंधितों को सूचित करने का काम निजी हाथों में सौंपा जाएगा। इसके लिए तीन सदस्यीय सेल रहेगी। ऐसे में अवकाश के दिनों में भी यह काम जारी रहेगा।

यात्रियों ने इस तरह किए मैसेज

मैसेज-1 : 10 मार्च को ट्रेन संख्या 02533 गोरखपुर-बांद्रा सुविधा ट्रेन के ए-1 एसी कोच में माला वर्मा सवार थी। रिश्तेदार आलोक सिंह ने ट्वीट किया। बताया कि माला से 15 घंटे से चर्चा नहीं हुई है। वह ट्रेन में सवार हुई या नहीं इसकी भी सूचना नहीं है। कृपया इनकी बात कराएं। मैसेज के बाद ट्रेन रतलाम पहुंचने पर हेड टीटी ने आलोक की माया से चर्चा कराई।

मैसेज-2 : 7 मार्च को मुंबई-दिल्ली राजधानी एक्सपे्रस में सवार यात्री किरण ने मैसेज किया। इसमें रात में बच्चे के लिए कहीं भी दूध नहीं मिलने की सूचना दी। मैसेज रतलाम में आने के बाद यहां संबंधितों को जानकारी दी गई। ट्रेन रतलाम पहुंचने पर यहां स्टेशन मास्टर ने यात्री किरण को दूध उपलब्ध कराया।

मैसेज-3 : 12 फरवरी को नितेश सिंह ने रेलमंत्री को ट्वीट किया कि उसे दिल्ली-मुंबई राजधानी एक्सपे्रस में सवार भाई से तुरंत संपर्क करना है। मैसेज मिलने तक ट्रेन रतलाम से रवाना हो चुकी थी। तब बड़ौदा मंडल को मैसेज फारवर्ड किया गया। इसके बाद दिल्ली से सवार यात्री की बड़ौदा में बात कराई गई।

मंडल में इतने मिले मैसेज

माह और कुल मैसेज

सितंबर 27

अक्टूबर 105

नवंबर 195

दिसंबर 203

जनवरी 219

फरवरी 224

3 मार्च तक 06

ट्वीट पर तुरंत कार्रवाई

रेल मंत्री की व्यवस्था के बाद यात्रियों के ट्वीट पर तुरंत कार्रवाई की जा रही है। यात्रियों को सुविधा का लाभ मिल रहा है। अब रेल मंडल में कई यात्रियों की ट्रेनों में सहायता की। साथ ही शिकायतों का निदान भी किया गया। – जेके जयंत, जनसंपर्क अधिकारी, रतलाम

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top