आप यहाँ है :

मुंबई में 28 सितंबर से शुरु हो रहे जागरण फिल्म समारोह के खास आकर्षण

भारत का एकमात्र फिल्म समारोह जागरण मुंबई में 28 सितम्बर से 4 अक्टूबर तक आयोजित होने जा रहा है । इस वर्ष का फिल्मोत्सव ‘खुशी’ थीम पर केन्द्रित है, जो फिल्मों के जरिए अपने विविध रंगों की कलात्मकता को नए क्षितिज तक पहुँचायेगा. जागृण पिछले 3 महीने से 16 शहरों में फिल्मों को प्रदर्शन कर चुका है।

इस सात-दिवसीय समारोह का उद्घाटन मुंबई में फिल्मों का एक गुलदस्ता प्रतिस्पर्धा की श्रेणी जैसे ‘भारतीय शोकेस’, लघु फिल्मों के अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता ‘जागरण शॉर्ट्स’, ‘सिनेमा ऑफ सेलेर्स’ और ‘डेब्यू डायरेक्टर्स से होगा । जहाँ ‘जागरण प्रीमियर’ बड़ा मंच प्रदान करता है, वहाँ पुरानी फिल्मों को रीट्रोस्पेक्टिव अनुभाग में दर्शाया जायेगा. ‘श्रद्धांजलि’ श्रेणी हिंदी क्लासिक्स दिखाई जायेगी तथा बेहतर फिल्मों की खोज में, अंतरराष्ट्रीय पैमाने पर 10 सर्वश्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय लघु फिल्मों का संग्रह एक विशेष खंड के अंतर्गत ‘टॉप शॉर्ट्स’ के माध्यम से प्रस्तुत किया जायेगा।

जागरण फिल्म समारोह में इस बार विशेष रुप से सर विलियम शेक्सपियर की दस खास फिल्में भी दिखाई जाएगी। करीब चार सौ साल के बाद भी फिल्मों में शेक्सपियर की झलक देखने को मिलती है। वो आज भी प्रासंगित सी दिखाई पड़ती है।

मुंबई में होने वाले छठें जागरण फिल्म फेस्टिवल में दुनियाभर से चुनी गई ऐसी दस फिल्में दिखाई जाएगी जिसमें शेक्सपियर की मौजूदगी दिखाई दे। ‘शेक्सपियर 400’ के टाइटल तले सेक्शन विशेष में इन फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा। 28 सितंबर से 4 अक्टूबर तक चलने वाले इस फेस्ट में पार्टनर पृथ्वी थिएटर होगा।

इसके अलावा एक सेमिनार भी आयोजित होगा। इसका नाम होगा ‘शेक्सपियर टूडे’। यह 1 अक्टूबर को आयोजित होगा। सुबह 11 बजे शुरू होने वाले इस कार्यक्रम में फिल्म जगत के लोग इस बात पर चर्चा करेंगे कि आज के दौर में बार्ड के काम की क्या प्रासंगिकता है। इस पैनल में रजत कपूर, मलयालम फिल्ममेकर जयराज, थिएटर पर्सनालिटी गीतांजलि कुलकर्णी और अतुल तिवारी मौजूद होंगे।

जागरण फिल्म उत्सव में अनुराग कश्यप की बॉम्बे वेल्वेट, दिबाकर बनर्जी की डिटेक्टिव ब्योमकेश बक्शी, राजकुमार हिरानी की पीके, श्रीराम राघवन की बदलापुर, विशाल भारद्वाज की हैदर, आनंद एल रॉय की तनु वेड्स मनु रिटर्न्स जैसी फिल्में दिखाई जाएगी।

नवागत निर्देशकों में आदित्य विक्रम सेनगुप्ता की आशा जाओर माझे (बंगाली), हर्षवर्धन कुलकर्णी की हंटर, शिलादित्य मौलिक की मिसेस स्कूटर (हिन्दी), एम.मनिकंदन की कक्का मुट्टई (तमिल) , पुष्पेंद्र सिंह की लाजवंती और शिनोस और सजस रहमान की त्योमेकर (मलयालम) का प्रदर्शन किया जाएगा।

विस्तृत जानकारी वेबसाईट www.jff.co.in पर संभी उपलब्ध ह।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top